पटना, जेएनएन। सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर बिहार में राजनैतिक दल मुस्तैद हो गए हैं। हर पार्टी अपनी ओर से दिन-ब-दिन बयान जारी कर रही है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार को ही बिहार सरकार पर सुशांत मामले को लेकर शिथिलता बरतने का आरोप लगाया है। इस बीच रिया चक्रवर्ती पर सुशांत सिंह राजपूत की हत्या का आरोप लगाते हुए जन अधिकार पार्टी (जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि रिया का संबंध अंडरवर्ल्ड से है। इस प्रकरण में रिया के मददगार महेश भट्ट, महाराष्ट्र के चार नेता और सुशांत के नौकर शामिल रहे हैं। 

एनडीए के नेता सुशांत की मौत पर कर रहे राजनीति

सोमवार को पटना में पप्पू ने कहा कि सुशांत की मौत के 45 दिन हो गए हैं। अभी तक नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी ने न महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बात की और न ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी। अब जब चुनाव नजदीक आ गया है तो एनडीए के नेता सुशांत की मौत पर राजनीति कर रहे हैं। 

पप्पू ने फिर की सीबीआइ जांच की मांग

पप्पू ने कहा कि वे पहले दिन से सीबीआइ जांच की मांग कर रहे हैं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र भी लिखा और महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से बात भी की, लेकिन कुछ हुआ नहीं। बकौल पप्पू, मैं एक बार फिर मांग करता हूं कि इस मामले की जांच सीबीआइ को सौंपी जाए। महाराष्ट्र में बिहार पुलिस के अफसर को अपमानित करना ठीक व्यवहार नहीं। बिहार से सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच सीबीआइ को सौंपने की लगातार मांग उठ रही है। आरजेडी विधायक व बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान, अभिनेता शेखर सुमन, जन अधिकार पार्टी (जाप) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव समेत कई नेताओं ने सुशांत प्रकरण की जांच सीबीआइ से करने की गुहार पहले ही लगाई है। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप