Move to Jagran APP

बिहार BJP की कार्यकारिणी में दिखा सोशल इंजीनियरिंग का फार्मूला, गैर-यादव पिछड़ा और अति पिछड़ा पर लगाया है दांव

बिहार भाजपा की नई कार्यकारिणी में सामाजिक समीकरण का पूरा ध्यान रखा गया है। भाजपा नेतृत्व ने इस बार पिछड़ा-अति पिछड़ा वर्ग पर विशेष फोकस किया है। हालांकि कोर वोटर मानी जानी वाली ऊंची जातियों को भी उचित प्रतिनिधित्व दिए जाने की बात हो रही। कुशवाहा बिरादरी से आने वाले सम्राट चौधरी को प्रदेश अध्यक्ष की कमान भी सामाजिक समीकरण के उद्देश्य से ही सौंपी गई थी।

By Raman ShuklaEdited By: Mohit TripathiPublished: Wed, 09 Aug 2023 09:13 PM (IST)Updated: Wed, 09 Aug 2023 09:13 PM (IST)
सम्राट चौधरी की टीम में गैर-यादव ओबीसी, अति पिछड़ा और सवर्णों को मिला प्रतिनिधित्व। (फाइल फोटो)

राज्य ब्यूरो, पटना: बिहार भाजपा की नई कार्यकारिणी में सामाजिक समीकरण का पूरा ध्यान रखा गया है। भाजपा नेतृत्व ने इस बार पिछड़ा-अति पिछड़ा वर्ग पर विशेष फोकस किया है। हालांकि, कोर वोटर मानी जानी वाली ऊंची जातियों को भी उचित प्रतिनिधित्व दिए जाने की बात हो रही।

कुशवाहा बिरादरी से आने वाले सम्राट चौधरी को प्रदेश अध्यक्ष की कमान भी सामाजिक समीकरण के उद्देश्य से ही सौंपी गई थी। अब उन्होंने अपनी 38 सदस्यीय नई कार्यकारिणी की घोषणा कर दी है।

यादव समाज से केवल एक प्रतिनिधि

सम्राट चौधरी की भाजपा कार्यकारिणी में यादव जाति से मात्र एक प्रतिनिधि है। पिछली बार की टीम में इस समाज के दो नेता कार्यकारिणी में थे। पार्टी ने अजय यादव को मंत्री, जबकि ओमप्रकाश यादव को उपाध्यक्ष बनाया था। उससे पहले तो प्रदेश अध्यक्ष (नित्यानंद राय) ही यादव बिरादरी से थे।

सम्राट की सोशल इंजीनियरिंग में सामान्य वर्ग से कौन-कौन

सम्राट की कार्यकारिणी में अति पिछड़ा वर्ग से आठ प्रतिनिधि हैं। भूमिहार जाति से जगन्नाथ ठाकुर, रीता शर्मा, संतोष रंजन और धीरेंद्र कुमार सिंह हैं। ब्राह्मण जाति से मिथिलेश तिवारी, संतोष पाठक, राकेश तिवारी, दिलीप मिश्रा, ज्ञान प्रकाश ओझा और सरोज झा हैं। राजपूत बिरादरी से राजेंद्र सिंह, नूतन सिंह, अमृता भूषण, त्रिविक्रम सिंह,आशुतोष शंकर सिंह और कायस्थ से राजेश वर्मा लिए गए हैं।

पिछड़ा वर्ग के इन नेताओं को कार्यकारिणी में मिली जगह

पिछड़ा समाज में कुर्मी बिरादरी से सरोज रंजन पटेल और प्रवीण चंद्र राय, कुशवाहा जाति से ललिता कुशवाहा, रत्नेश कुशवाहा और जितेंद्र कुशवाहा हैं। यादव समाज से स्वदेश यादव हैं। वैश्य से सिद्धार्थ शंभू, प्रियंवदा केसरी, संजय गुप्ता और संजय खंडेलिया।

अति पिछड़ा वर्ग से इन नेताओं को मिली जगह

अति पिछड़ा में कहार से डॉ. भीम सिंह, कुम्हार से शीला प्रजापति, नाई से अनिल ठाकुर, नोनिया से नंदलाल चौहान, तेली से नितिन अभिषेक, साहनी से राज भूषण निषाद, धानुक से ललन मंडल, दांगी से अमित दांगी को लिया गया है।

अनुसूचित वर्ग से इन नेताओं को किया गया शामिल

अनुसूचित जाति में चर्मकार वर्ग से शिवेश राम और सुग्रीव, पासवान जाति से गुरु प्रकाश पासवान को नई टीम में शामिल किया गया है। गुरु प्रकाश अभी भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी हैं। वे पूर्व केंद्रीय मंत्री व विधान पार्षद संजय पासवान के पुत्र हैं। यह उनका दूसरा परिचय है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.