राज्य ब्यूरो, पटना: रीयल इस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी (रेरा) ने शनिवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए एक दर्जन बिल्डरों व रीयल इस्टेट कंपनियों के प्रोजेक्ट का निबंधन आवेदन खारिज कर दिया है। इसमें हावड़ा और हैदराबाद की कंस्ट्रक्शन कंपनियों के भी एक-एक प्रोजेक्ट शामिल हैं। बाकी प्रोजेक्ट पटना की रीयल इस्टेट कंपनियों के हैं। प्रोजेक्ट के आवेदन के लिए जरूरी अधिकृत नक्शा व अन्य आवश्यक कागजात जमा नहीं कराने पर यह कार्रवाई की गई है। कई प्रोजेक्ट का बिल्डिंग प्लान या नक्शा मिला भी तो वह अथारिटी से स्वीकृत नहीं पाया गया। रेरा ने आवेदन खारिज किए जाने वाली कंस्ट्रक्शन कंपनियों व बिल्डरों को ग्राहकों से लिए गए पैसे लौटाने को भी कहा है।

अभी तक 69 प्रोजेक्ट पर कार्रवाई

रेरा ने इसी माह कुछ दिन पूर्व अन्य 29 प्रोजेक्ट के निबंधन आवेदन को भी इसी कारण खारिज किया था। अभी तक कुल 69 प्रोजेक्ट के आवेदन खारिज किए जा चुके हैं, जबकि 188 आवेदनों पर विचार किया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार, आने वाले समय में कई अन्य प्रोजेक्ट के आवेदन खारिज हो सकते हैं। 

इन प्रोजेक्ट पर हुई कार्रवाई

ट्राईकलर प्रोपर्टी प्रा लि, हैदराबाद का प्रोजेक्ट समर ब्रूक, पंचदीप कंस्ट्रक्शन प्रा लि, हावड़ा का प्रोजेक्ट केपी मॉल, पीस बिल्डटेक का कमरुद्दीन प्लाजा, पाटलिग्राम बिल्डर्स का पाटलिग्राम किंगडम फेज-एक, मेघा हाइट्स बिल्डकान प्रा लि का रायल इन्क्लेव, मां शक्ति डेवपलर्स का प्रोजेक्ट मां शक्ति काम्प्लेक्स, लखन होम्स लिमिटेड का लखन हेरिटेज, गोल इंफ्राटेक का कैलाश सिटी, देव हीरा प्रोजेक्ट प्रा लि का मुंडेश्वरी राहुल काम्पलेक्स, ब्रह्म इंजीनियर्स एंड डेवपलर्स का जानकी भवन, सिद्धांत इस्टेट प्राइवेट लिमिटेड का ग्रीन इनक्लेव, प्रोपर्टी व्यू डेवलपर एंड कंस्ट्रक्शन प्रा लि का न्यू पार्क एवेन्यू सिटी। फिलहाल रेरा ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एक दर्जन बिल्डरों व रीयल इस्टेट कंपनियों के प्रोजेक्ट का निबंधन आवेदन खारिज कर दिया है। अहम बात यह है कि इसमें हावड़ा और हैदराबाद की कंस्ट्रक्शन कंपनियों के भी एक-एक प्रोजेक्ट शामिल हैं। 

Edited By: Akshay Pandey