कुमार रजत, पटना:  राजधानी में गंगा नदी में पर्यटकों के लिए दो मंजिला क्रूज चलेगा। इसका संचालन पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मोड पर किया जाएगा। बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम इसके लिए एजेंसी का चयन करेगा, जिसके लिए निविदा निकाली गई है। क्रूज का परिचालन हर दिन होगा। एक बार में यह 10 से 15 किलोमीटर का सफर तय करेगा। पटना में गांधी घाट से इसे चलाया जा सकता है। यह क्रूज एमवी कौटिल्य फ्लोटिंग रेस्तरां से अलग होगा।

वातानुकूलित क्रूज में होगा रेस्तरां

क्रूज में एक साथ 94 लोग सफर कर सकेंगे। यह पूरी तरह से वातानुकूलित होगा। इसके अंदर शानदार रेस्तरां भी होगा। निचले तल पर बैठने और खाने की व्यवस्था होगी। दूसरा तल ओपन होगा। बैठने की व्यवस्था इस तरह होगी कि अधिक से अधिक लोग बाहर का नजारा देख सकें। 

ऑनलाइन भी मिलेगा टिकट

गंगा क्रूज के लिए ऑनलाइन टिकट की व्यवस्था भी होगी। टिकट काउंटर्स भी होंगे जो सीसीटीवी की निगरानी में रहेंगे। इसके अलावा क्रूज में भी यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सीसीटीवी कैमरा लगाए जाएंगे। लाइटिंग के लिए एलईडी लाइट का इस्तेमाल किया जाएगा। 

ऐतिहासिक इमारतों का हो सकेगा दर्शन

क्रूज का परिचालन शुरू होने के बाद पर्यटक गंगा नदी के किनारे बसे पटना की खूबसूरती नजदीक से देख सकेंगे। गंगा नदी के किनारे बने दरभंगा हाउस, पटना विश्वविद्याल, पटना कॉलेज समेत कई ऐतिहासिक इमारतों को नजदीक से देखा जा सकेगा।

फ्लोटिंग रेस्तरां भी फिर होगा शुरू

क्रूज के अलावा गंगा नदी में पहले से चल रहे फ्लोटिंग रेस्तरां को भी फिर से शुरू करने की योजना है। इंजन में आई खराबी के कारण इसका परिचालन कई वर्षों से बंद है। नए पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद ने अधिकारियों को फ्लोटिंग रेस्तरां को फिर से शुरू करने का निर्देश दिया है। फिलहाल दो मंजिला क्रूज से पटना का दीदार करना राजधानीवासियों के लिए काफी रोमांचकारी होगा। इसके लिए बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम एजेंसी का चयन करेगा।

Edited By: Akshay Pandey