जासं, छपरा: बिहार में एकबार फिर स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही सामने आई है। छपरा शहर के मासूमगंज शहरी स्वास्थ्य केंद्र में वैक्सीन लेने आए युवक को बुधवार को खाली इंजेक्शन लगा दिया गया। घटना का वीडियो वायरल होने पर स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार को बड़ी कार्रवाई की है। आरोपित नर्स चंदा देवी को वैक्सीनेशन कार्य से मुक्त कर दिया है। विभाग ने उससे स्पष्टीकरण की मांग की है। आरोपित नर्स चंदा देवी ने विभाग को बताया है कि टीकाकरण के दौरान काफी भीड़ थी, इसलिए भूल हुई। अब विभाग उस युवक को फिर से वैक्सीन की पहली डोज देगा। 

मिली जानकारी के अनुसार चंदा देवी की नियुक्ति एकमा स्वास्थ्य केंद्र में है। टीकाकरण को लेकर उनकी प्रतिनियुक्ति मासूमगंज शहरी स्वास्थ्य केंद्र पर की गई थी। बुधवार को एक युवक छपरा शहर के मासूमगंज शहरी स्वास्थ्य केंद्र में कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेने आया था। टीके के नाम पर नर्स ने युवक को खाली इंजेक्शन लगा दिया। इसका वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। सूचना मिलने पर वायरल वीडियो की तहकीकात स्वास्थ्य विभाग की टीम ने की।

जांच में वीडियो पाया गया सही

वीडियो की जांच में मामला छपरा का निकला। इसके बाद जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. अजय कुमार शर्मा ने कार्रवाई करते हुए दो दिनों के अंदर नर्स से शोकाज का जवाब देने को कहा है। इस संबंध में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि नर्स ने अपनी गलती स्वीकार की है। लिखित जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल उसे टीकाकरण कार्य से मुक्त कर दिया गया है। नर्स ने कहा है कि टीकाकरण के दौरान काफी भीड़ थी। इस कारण चूक हुई है।

पहले भी सामने आई है लापरवाही

बता दें कि पटना में भी वैक्सीनेशन के नाम पर लापरवाही के मामले सामने आ चुके हैं। एक दिन में एक ही व्यक्ति को दो वैक्सीन, एक युवक को दो अलग-अलग टीके से लेकर बिना वैक्सीन लगाए सर्जिफिकेट जारी किए जाने की शिकायत भी सामने आई है। 

 

Edited By: Akshay Pandey