पटना, आनलाइन डेस्‍क। Bihar News: बिहार में तीन दिनों से जारी राजनीतिक हाई वोल्‍टेज ड्रामा का बुधवार को महागठबंधन के चाचा-भतीजा की सरकार के गठन के साथ द-एंड हो गया है। चाचा नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने महागठबंधन के मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ले ली है तो भतीजा तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) उपमुख्‍यमंत्री बने हैं। राजभवन में संपन्‍न शपथ ग्रहण समारोह में मेत्रिमंडल के अन्‍य मंत्रियों का शपथ ग्रहण नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि मंत्रिमंडल गठन के लिए लिस्‍ट फाइनल होने के बाद अन्‍य मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी।

नीतीश कुमार ने ली मुख्‍यमंत्री पद की शपथ

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को राजभवन में महागठबंधन की सरकार में मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली। इसके पहले साल 2020 के बिहार विधानसभा चुनाव में विजयी राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार में मुख्‍यमंत्री के रूप में नीतीश कुमार ने 25 नवंबर 2020 को शपथ ली थी, लेकिन भारतीय जनता पार्टी (BJP) से उनके रिश्‍ते अच्‍छे नहीं रहे। बकौल नीतीश कुमार, बीते दिन मंगलवार को जनता दल यूनाइटेड (JDU) के सांसदों-विधायकाें ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) से एनडीए गठबंधन तोड़ने का फैसला किया। इसके बाद उन्‍हाेंने राज्‍यपाल से मिलकर इस्‍तीफा दे दिया।

तेजस्‍वी ने नीतीश का पैर छू लिया आशीर्वाद

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के बाद तेजस्‍वी यादव ने उपमुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण के बाद तेजस्‍वी ने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार का पैर छूकर आशीर्वाद लिया।

सीएम बनने के बाद बीजेपी पर साधा निशाना

आज पदभार ग्रहण करने के बाद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने बीजेपी काे जमकर निशाने पर लिया। बीजेपी के लिए कहा कि 2014 में तो आ गए, लेकिन 2024 में रहेंगे या नहीं, यह वक्‍त बताएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अटल बिहारी वाजपेयी की तुलना पर कहा कि अटल जी कितना मानते थे, कितना प्रेम करते थे।अटल जी के प्रेम को वे भूल नहीं सकते।

बीजेपी के व्‍यवहार पर सवाल उठाते हुए कहा कि पिछले डेढ़ महीने से उसके नेताओं से कोई बातचीत नहीं हो रही थी। नीतीश कुमार ने आरसीपी सिंह पर भी कटाक्ष किए। साथ ही कहा कि यह सरकार खूब चलेगी। कुछ लोगों को लगता है कि विपक्ष खत्म हो जाएगा तो अब वे भी विपक्ष में आ गए हैं, विपक्ष को पूरे तौर पर मजबूत करेंगे।

आठवीं बार मुख्‍यमंत्री पद की ली है शपथ

नीतीश कुमार का यह मुख्‍यमंत्री के रूप में आठवी बार शपथ ग्रहण था। नीतीश कुमार केवल पांच चुनाव जीतकर आठवीं बार मुख्‍यमंत्री बने हैं। नीतीश कुमार साल 2010 के विधानसभा चुनाव से अब तक हर बार कार्यकाल के बीच ही इस्‍तीफा देकर दोबारा मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेते रहे हैं। ऐसा तीसरी बार हुआ है।

महागठबंधन सरकार का स्वरूप भी फाइनल

बुधवार के शपथ ग्रहण में केवल मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार एवं उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव ने शपथ लिया। अन्‍य मंत्रियों को बाद में शपथ दिलाई जाएगी। इस बीच महागठबंधन की नई सरकार के स्वरूप पर अंतिम बातचीत चल रही है। सूत्र बताते हैं कि जेडीयू को एक दर्जन विभागों का जिम्मा मिल सकता है तो आरजेडी व कांग्रेस को 20 विभाग दिए जा सकते हैं। इसमें आरजेडी के 17 मंत्री रह सकते हैं। सरकार में जीतनराम मांझी की पार्टी के एक मंत्री को भी शामिल किया जाएगा। विधानसभा अध्यक्ष का पद जेडीयू के खाते में जा सकता है।

किसे कौन से विभाग मिल सकते हैं, आइए जानें

विभागों की बात करें तो सामान्य प्रशासन व गृह विभाग को लेकर अभी तक सहमति नहीं बनी है। आरजेडी गृह विभाग अपने पास चाहता है। जबकि, नीतीश कुमार मुख्यमंत्री रहते हुए इसे हमेशा अपने पास रखते आए हैं। माना जा रहा है कि पथ निर्माण विभाग सहित कई बड़े विभाग आरजेडी को मिल सकते हैं।

आरजेडी व कांग्रेस को मिल सकते हैं ये विभाग...

  1. पथ निर्माण
  2. स्वास्थ्य
  3. भवन निर्माण
  4. पशु एवं मत्स्य संसाधन
  5. वित्त
  6. कृषि
  7. लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण
  8. श्रम संसाधन
  9. सूचना प्रौद्योगिकी 
  10. उद्योग
  11. नगर विकास
  12. पंचायती राज
  13. पर्यावरण वन एवं जलवायु  परिवर्तन
  14. पर्यटन
  15. कला संस्कृति
  16. खान एवं भूतत्व
  17. आपदा प्रबंधन
  18. पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण
  19. राजस्व एनं भूमि सुधार  20 गन्ना उद्योग

जेडीयू को मिल सकती है इन विभागों की जिम्मेदारी

  1. शिक्षा
  2. ऊर्जा
  3. योजना एवं विकास
  4. परिवहन
  5. ग्रामीण विकास
  6. समाज कल्याण
  7. सूचना एवं जनसंपर्क
  8. खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण
  9. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी
  10. मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन
  11. ग्रामीण कार्य
  12. अल्पसंख्यक कल्याण .

नीतीश कुमार कब-कब बने मुख्‍यमंत्री, जानिए

   चुनाव का साल  शपथ ग्रहण              इस्‍तीफा                किस गठबंधन के मुख्‍यमंत्री रहे

  1. 2000          03 मार्च 2000            10 मार्च 2000         एनडीए (बीजेपी-जेडीयू)
  2. 2005          24 नवंबर 2005          24 नवंबर 2010      एनडीए (बीजेपी-जेडीयू)
  3. 2010          25 नवंबर 2010          19 मई 2014          एनडीए (बीजेपी-जेडीयू)
  4. 2010          22 फरवरी 2015        19 नवंबर 2015      जेडीयू (आरजेडी व कांग्रेस का बाहरी समर्थन)
  5. 2015          20 नवंबर 2015          26 जुलाई 2017      महागठबंधन (जेडीयू, आरजेडी, कांग्रेस)
  6. 2015          27 जुलाई 2017          24 नवंबर 2020      एनडीए (बीजेपी-जेडीयू)
  7. 2020          25 नवंबर 2020          09 अगस्‍त 2022     एनडीए (बीजेपी-जेडीयू)
  8. 2022          10 अगस्‍त 2022                                      महागठबंधन (जेडीयू, आरजेडी, कांग्रेस)

Edited By: Amit Alok