जागरण संवाददाता, पटना : दैनिक जागरण ने जिम्मेदारी की जो मशाल सौंपी थी, उसकी रोशनी से शहर जगमग होने लगा है। माय सिटी माय प्राइड के तहत लिए गए काम जमीन पर उतरने लगे हैं। जिन संस्थाओं ने काम करने का बीड़ा उठाया था, वे पूरे मनायोग से इसमें जुटे हैं। बुधवार को दैनिक जागरण कार्यालय में आयोजित राउंड टेबल कॉन्‍फ्रेंस में जिम्मेवारी लेने वाली संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने मुद्दों पर किए जा रहे कामों की जानकारी दी। हेल्थ, एजुकेशन, इकोनॉमी, सेफ्टी और इंफ्रास्ट्रक्चर सभी सेक्टरों में सार्थक पहल दिखी। 

इनर व्हील क्लब ऑफ पटना ने बताया कि फुलवारी के एक सरकारी स्कूल को हैप्पी स्कूल में बदल दिया गया है। अगले कुछ दिनों में यह पूरी तरह से बच्चों को सौंप दिया जाएगा। डीआइजी के द्वारा जानकारी दी गई कि महिला कॉलेज के बाहर सुरक्षा के लिए कांस्टेबल की तैनाती कर दी गई है। लायंस क्लब ऑफ पटना की ओर से भी सेनेटरी वेंडिंग मशीन लगा दी गई है। कुछ संस्थाओं ने नवंबर-दिसंबर तक काम शुरू होने की भी बात कही।

राजधानी में पांच सौ शौचालय व यूरिनल लगाने की घोषणा माय सिटी माय प्राइड के फोरम में की गई थी। इसमें लगभग तीन दर्जन शौचालय, यूरिनल लगा दिए गए हैं। शेष भी दिसंबर तक लगा दिए जाएंगे। जागरण के हर अभियान को पूरा समर्थन दिया जाएगा।
- सीता साहू, मेयर, पटना नगर निगम

माय सिटी माय प्राइड में कई मुद्दों पर काम शुरू हो गया है। महिला कॉलेजों के बाहर डॉल्फिन मोबाइल टीम को तैनात किया गया। साथ ही खुद भी मगध महिला कॉलेज पहुंच छात्राओं से सीधे रूबरू हुए। मगध महिला कॉलेज गेट पर चार महिला कांस्टेबल और एक पदाधिकारी की स्थायी तैनाती कर दी गई। गांधी मैदान थाना से सभी को अटैच
किया गया है। जल्द ही अन्य महिला कॉलेज गेट के पर सुरक्षा बढ़ाई जाएगी।
-राजेश कुमार, डीआइजी

माय सिटी-माय प्राइड अभियान के तहत हमने पटना शहर को क्यूरेबुल ब्लाइंडनेस फ्री बनाने का बीड़ा उठाया है। अभी शहर के सात वार्डों में अभियान चलाया जा रहा है। सभी वार्डों में अभियान चलाना है। 12 दिसंबर को फाउंडेशन के स्थापना दिवस के अवसर पर हर वार्ड में नेत्र कैंप अभियान की शुरुआत होगी। साल भर में सभी
वार्डों में दो-दो कैंप लगाए जाएंगे। कैंप में फ्री इलाज, दवा एवं अन्य व्यवस्था की जाएगी।
-अशोक कुमार, निदेशक, श्री साईं नेत्रालय

इनर व्हील क्लब ने फुलवारीशरीफ के मुरलीचक और उफरपुरा मोहल्ले में हैप्पी स्कूल बनाने का संकल्प लिया है। मुरलीचक में एक प्राथमिक विद्यालय में काम चल रहा है। बिल्डिंग का रंग-रोगन कर किचन, बाथरूम, बांउड्रीवाल बनाया जा चुका है। प्ले मैटेरियल की व्यवस्था हो रही है। उफरपुरा में भी सारी व्यवस्था की जा रही है। नवंबर में इन विद्यालयों में विधिवत हैप्पी स्कूल संचालित होने लगेगा। बच्चों के लिए जूता, मोजा से लेकर अन्य व्यवस्थाएं कर दी जाएंगी।
-विभा चरण पहाड़ी व उषा सिन्हा, इनर व्हील क्लब ऑफ पटना

खत्री समाज की ओर से पटना सिटी के मंगल तालाब , कंगन घाट और गुरु गोविंद सिंह घाट में बड़े डस्टबिन लगाए गए हैं। प्लास्टिक बैग का प्रचलन खत्म करने के लिए कपड़ों के थैले का वितरण सब्जी बाजार में कर रहे हैं। गुरु गोविंद सिंह अस्पताल और एनएमसीएच में लावारिस वार्ड खोलने की योजना है।
-अनंत अरोड़ा, बिहार प्रदेश खत्री समाज

अदालतगंज स्थित तालाब को आदर्श तालाब बनाने के लिए हम काम कर रहे हैं। यहां मछली पालन के साथ-साथ मनोरंजन व सैर सपाटे की भी व्यवस्था की जाएगी। वोटिंग भी होगी। अभी अतिक्रमण हटाने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। तालाब में नाली का पानी न गिरे इसकी व्यवस्था भी होगी। बोरिंग कराई जा रही है। तालाब के पास जिंदा
मछली बेचने की भी व्यवस्था करेंगे।
-ऋषिकेश कश्यप, को-आपरेटिव फिशरीज फेडरेशन

बीआइए में युवा उद्यमियों के लिए मार्गदर्शन की व्यवस्था की गयी है। बीआइए से चूंकि हर तरह के उद्यमी, चार्टर अकाउंटेंट और अनुभवी लोग जुड़े हैं। इसलिए युवाओं की बेहतर मेंटरशीप हो पाती है। युवाओं में प्रतिभा होती है, जानकारी हम उपलब्ध कराते हैं। बीआइए एंटरप्रेन्योर को भी मंच मुहैया कराने का काम कर रहा
है। एंटरप्रेन्योर सिर्फ आइडिया लेकर आएं। वर्किंग स्पेश से लेकर कंपनी के रजिस्ट्रेशन तक की सारी जरूरतें बीआइए पूरी करेगा।
-मनीष तिवारी, बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन

जागरण की पहल पर हम ऐसे 40 स्कूल संचालित करने वाले हैं, जहां गरीबों को पूरी तरह से नि:शुल्‍क शिक्षा प्रदान की जाएगी। अप्रैल 2019 से इन स्कूलों के संचालन की योजना है। कुछ बड़े स्कूलों से भी बात की जा रही है, जो क्लास के बाद के समय में गरीबों के बच्चों को पढ़ाएं। कई स्कूलों ने सकारात्मक रिस्पांस दिए हैं।
-डॉ. डीके सिंह, चेयरमैन , बिहार प्राइवेट स्कूल चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन

माय सिटी माय प्राइड के तहत हमने कॉलेजों में सेनेटरी वेंडिंग मशीन लगाने का संकल्प लिया था। इसी अक्टूबर माह में पटना साइंस कॉलेज में सेनेटरी वेंडिंग मशीन लगाई गई है। जल्द ही एलएन मिश्रा इंस्टीट्यूट और पटना वीमेंस कॉलेज में भी यह मशीन लगाई जाएगी। इन जगहों पर हम सेनेटरी पैड उपलब्ध कराएंगे। इसके बाद हर डिपार्टमेंट में भी वेंडिंग मशीन लगाने की योजना है।
-रीटा सिन्हा व डॉ. शहनाज मिर्जा, लायंस क्लब ऑफ पटना

प्रेमा फाउंडेशन स्कूली बच्चों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग देने का कार्य करने वाला है। 120 स्कूलों का डाटा आ गया है। छठ के बाद छह स्कूलों में ट्रेनिंग शुरू कराई जाएगी। अगले साल से हर हफ्ते एक स्कूल का चयन कर सेल्फ डिफेंस की
ट्रेनिंग दी जाएगी।
- जय शंकर सिंह, सह-संस्थापक, मां प्रेमा फाउंडेशन

हम एक ऐसी संस्कृति विकसित करना चाहते हैं जिससे युवा टेक्नोक्रेट के आइडिया और इनोवेशन को सही प्लेटफार्म मिल सके। निफ्ट, आइआइटी, एनआइटी, बीआइटी मेसरा जैसे संस्थानों से पास आउट छात्रों के भी इनोवेटिव आइडिया को प्रोत्साहित करने की हर कोशिश की जा रही है। अन्य युवाओं की ओर से आने वाले सुझावों और तकनीकि आइडिया
पर भी बीआइए विचार करती है। बड़ी संख्या में हमने युवाओं को प्रोत्साहित किया है।
-संजय भरतिया, वाइस प्रेसिडेंट, बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन

बिहार चैम्बर ऑफ कॉमर्स बिल्डिंग में ही एक नया भवन बनाया जा रहा है, जिसमें युवाओं के कौशल विकास कार्यक्रम चलाये जाएंगे। अभी हम सिलाई, कढ़ाई और कंप्यूटर के प्रशिक्षण करा रहे हैं। प्रशिक्षण पा चुके युवाओं को हर तरह से सहायता कर स्वावलंबी बनाया जा रहा है। नवंबर के मध्य में नया बैच शुरू किया जा रहा है।
-एनके ठाकुर, वाइस प्रेसिडेंट, बिहार चैम्बर ऑफ कामर्स

शिक्षा के अधिकार को और भी प्रभावी बनाने के लिए प्रयासरत हैं। दानापुर के पास के गरीब बच्चों को स्कूल जाने के लिए तैयार करते हैं। विद्यालय प्रबंधन समितियों के साथ समन्वय कर गरीब बच्चों का दाखिला स्कूलों में करा रहे हैं।
-संजीव कुमार, संयोजक, वोलेंटरी फोरम

By Krishan Kumar