राज्य ब्यूरो, पटना। चेहरे कई थे मगर आवाज एक थी- 'पटना को और बेहतर बनाना है। संवारना है।’ ये मंच था दैनिक जागरण के माय सिटी माय प्राइड के फोरम का। गुरुवार को होटल मौर्या में आयोजित कार्यक्रम में शहर को संवारने की कई घोषणाएं हुईं।पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा कि आर ब्लॉक से दीघा घाट के बीच रेलवे से मिली जमीन पर इसी वित्तीय वर्ष में सड़क निर्माण शुरू होगा। इतना ही नहीं, इसी रेलखंड के पटना घाट तक के हिस्से को रेलवे से मांगने पर बात चल रही है। इसपर भी सड़क निर्माण करने की योजना है। पटना के दक्षिणी हिस्से को जोडऩे के लिए मेहुली तक एलिवेटेड सड़क का निर्माण हो रहा जो बुद्ध मार्ग फ्लाईओवर से जुड़ेगी।

नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने कहा कि जागरण ने शहर को जगाने का काम किया है। हम सब मिलकर शहर को बेहतर बनाएंगे। शहर में कचरे से डीजल-बिजली बनाई जाएगी। आठ से दस महीने में प्रोजेक्ट शुरू हो जाएगा। तीन महीने में एजेंसी से एग्रीमेंट फाइनल हो जाएगा। निगम का कचरा 700 रुपये टन के हिसाब से एजेंसी को बेचा जाएगा।

मेयर सीता साहू ने कहा कि शहर में 500 से सार्वजनिक शौचालय व यूरिनल बनाए जाएंगे। दो अक्टूबर से डोर टू डोर कूड़ा उठेगा। दो अक्टूबर से विशेष स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा। डीआइजी राजेश कुमार ने गल्र्स स्कूलों और कॉलेजों के बाहर सिक्योरिटी बूथ खोलने की घोषणा की। हर बूथ में चार पुलिसकर्मी होंगे। इसके अलावा महिला कॉलेजों की छात्राओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। 

इसके पूर्व कार्यक्रम का उद्घाटन मंत्री नंदकिशोर यादव, सुरेश शर्मा, मेयर सीता साहू आदि ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इसके बाद मां सरस्वती, दैनिक जागरण के संस्थापक स्व. पूर्णचंद गुप्त व पूर्व प्रधान संपादक स्व. नरेंद्र मोहन की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। अतिथियों का स्वागत दैनिक जागरण के मुख्य महाप्रबंधक आनंद त्रिपाठी ने किया।

दैनिक जागरण के समाचार संपादक भारतीय बसंत कुमार ने जागरण के अभियान माय सिटी माय प्राइड की पूरी रूपरेखा से अतिथियों का परिचय कराया। धन्यवाद ज्ञापन जागरण के महाप्रबंधक एसएन पाठक ने किया। मौके पर बांकीपुर विधायक नितिन नवीन, कुम्हरार विधायक अरुण कुमार सिन्हा, दानापुर विधायक आशा देवी समेत कई शिक्षाविद्, समाजसेवी, अधिकारी आदि उपस्थित थे।

दशहरे से पहले भरे जाएंगे शहर के सभी गड्ढे : नंदकिशोर यादव
पटना को जल्द ही ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात मिलेगी। दीघा-एम्स एलिवेटेड रोड इसी साल शुरू हो जाएगा। रिंग रोड पटना के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। जेपी सेतु के समानांतर फोरलेन का नया पुल बनेगा। बेली रोड पर लोहिया पथचक्र का निर्माण तेजी से हो रहा है। यहां बिना रेड सिग्नल के गाडिय़ां फर्राटा भरेंगी। केंद्र सरकार ने बिहार को केवल सड़क निर्माण के लिए 54,700 करोड़ रुपये उपलब्ध कराए हैं। इससे न केवल पटना में बल्कि पूरे राज्य में सड़कों का जाल बुना जा रहा है। पटना के प्रमुख नालों को पाटकर उसपर सड़क निर्माण के लिए डीपीआर तैयार किया जा रहा है। जिस तरह रेलवे ने दीघा घाट से आर ब्लॉक की रेल लाइन बिहार सरकार के सुपुर्द की है, उसी तरह पटना घाट तक रेल लाइन की जमीन भी सुपुर्द करेगा। इस रेल लाइन पर भी सड़क का निर्माण कराया जाएगा जिसे कच्ची दरगाह में बनने वाले नए गंगा पुल से जोड़ा जाएगा। वर्ष 2020 तक महात्मा गांधी सेतु नए स्वरूप में दिखेगा। पूरे सेतु के सुपर स्ट्रक्चर को बदलने का काम अगले दो वर्षों में पूरा कर लिया जाएगा। राजधानी की सभी छोटी-बड़ी सड़कों को एनएच से जोडऩे का काम शुरू कर दिया गया है। इसके लिए कई नई सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है।
- नंदकिशोर यादव, पथ निर्माण मंत्री

दिवाली तक 70 हजार एलईडी बल्बों से जगमगाएगा पटना : सुरेश शर्मा
पटना की सभी सड़कों और गलियों को रोशन करने का काम अब अंतिम चरण में है। पूरे शहर में 70 हजार एलईडी बल्ब लगाने का ठेका दिया गया है। इसमें 35 हजार बल्ब लगाने का काम पूरा हो चुका है। दिवाली तक पटना की सड़कें एलईडी बल्ब की रोशनी से जगमगाएगी। राजधानी पटना की सभी सड़कों को तीन खंड में विभक्त किया गया है। इसमें सभी बड़ी सड़कों के निर्माण और रख-रखाव की जिम्मेदारी पथ निर्माण विभाग स्वयं उठा रहा है। बाकी मध्यम व छोटी सड़कों के रख-रखाव की जिम्मेदारी पटना नगर निगम की होगी। पूरे पटना शहर के चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। इन कैमरों से शहर की विधि-व्यवस्था की मॉनीटङ्क्षरग तो होगी ही, साथ ही शहर की ट्रैफिक व्यवस्था, स्वच्छता और सौंदर्यीकरण की भी मॉनीटङ्क्षरग की जाएगी। शहर को जलजमाव से निजात दिलाने की भी योजना पर तेजी से काम हो रहा है।
- सुरेश शर्मा, नगर विकास मंत्री

शहर की होगी हाईटेक सफाई, मुफ्त उठेगा कूड़ा : सीता साहू
पटना को और बेहतर शहर बनाने के लिए जरूरी है कि सभी लोग इसके लिए पहल करें। जागरण ने अभियान के जरिए सबको एक मंच पर लाने का काम किया है, जो काबिलेतारीफ है। जनता को भी जागरूक होना होगा। जबतक जनता जागरूक नहीं होगी, तबतक शहर को जागरूक नहीं बनाया जा सकता। 24 सितंबर से शहर में पॉलीथिन के इस्तेमाल पर लगने वाली रोक लगने वाली है, इससे शहर की कई समस्याओं का निदान हो जाएगा। शहर की सफाई, सौंदर्यीकरण और रोशनी के लिए की जा रही नई व्यवस्था की जा रही है। शहर की सफाई के लिए नए उपकरण खरीदे जा रहे हैं। निगकर्मियों को दो अक्टूबर से खादी की नई ड्रेस दी जा रही है। ये सब शहर को और सुंदर और बेहतर बनाने में मदद करेंगे।
- सीता साहू, मेयर, पटना

 

By Gaurav Tiwari