जागरण संवाददाता, पटना: तपती धूप में अगर राह चलते प्यासे लोगों को साफ और ठंडा पानी मिल जाए तो उनके लिए इससे अच्छी कोई राहत नहीं हो सकती है। 2012 से राजधानी में यह नेक काम धनंजय कुमार कर रहे हैं। वे गर्मी के दिनों में लोगों को साफ और ठंडे पानी से प्यास बुझाने की व्यवस्था कर रहे हैं। शुरुआत में उन्होने कई स्लम में बड़े-बड़े मटके और ग्लास रखे थे, जिससे राह चलने वाले लोग अपनी प्यास बुझाते थे।

प्रतिदिन भरवाते थे 400 लीटर पानी
धनंजय कहते हैं कि गर्मी को ध्यान में रखते हुए वो अपनी हर प्याऊ में सुबह-शाम 400 लीटर पानी भरवाते हैं ताकि लोगों को अपनी प्यास बुझाने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं हो। शुरू में उन्होंने अपने खर्च से मिट्टी के घड़े खरीदकर लगवाने शुरू किए। 2012 में उन्होने कंकड़बाग में बीकानेर स्वीट्स के पास, राजापुर पुल और छज्जूबाग में लोगों के लिए यह सुविधा शुरू की।

लायंस क्लब ने दिया सहयोग
धनंजय खुद लायंस क्लब सेंट्रल के पूर्व अध्यक्ष हैं। क्लब ने इनके काम को देखते हुए आर्थिक मदद प्रदान की। धनंजय बताते हैं कि लोग जुड़ते गए तो काम करने में मन भी लगने लगा और साथ ही कई और जगहों पर प्याऊ की सुविधा शुरू हो गई।

तीन जगहों के अलावा राजधानी में चार स्थानों पर एक्वागार्ड के साथ वाटर कूलर के ठंडे पानी की सुविधा शुरू की गई है। इससे लोगों को स्वच्छ पेयजल मिलता है।

अपनी जेब से लगाए 50 हजार रुपये
लोगों की सेवा करने के लिए धनंजय ने अपने घर के नीचे भी वाटर कूलर लगवाया है। इसके लिए उन्होंने अपनी जेब से 50 हजार रुपये खर्च किए हैं। गार्ड को ये जिम्मेदारी दी है कि पानी की साफ-सफाई पर वो विशेष ध्यान दे। धनंजय के अनुसार गर्मी में लोगों को पानी पिलाने से बेहतर कोई और पुण्य का काम नहीं है। बस एक सोच होनी चाहिए। मदद के लिए लोग आगे आ जाते हैं।

लायंस क्लब ने बनाया परमानेंट प्रोजेक्ट
लायंस क्लब ने इस सोच को आगे बढ़ाते हुए इस मुहिम को अपना परमानेंट प्रोजेक्ट ही बना लिया है। अब वो अलग-अलग जगहों पर वाटर कूलर की सुविधा देते हैं। जो गर्मी के दिनों में लोगों को अच्छी सुविधा देती है।

By Nandlal Sharma