नई दिल्‍ली, जेएनएन। पटना में अब खुले में शौच से लोगों को मुक्ति मिलेगी। इसके लिए नगर निगम की ओर से तैयारियां भी पूरी हो गई हैं। इससे उन लोगों को राहत मिलेगी जो खुले में शौच के लिए जाते थे। 'दैनिक जागरण' के ‘माय सिटी माय प्राइड’ अभियान में शहर की स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए 11 महत्वपूर्ण मुद्दों के समाधान का काम शुरू हो गया है।

शहर की बेहतरी के 11 समाधान
1. शहर में सार्वजनिक शौचालयों की कमी को पूरा करने के लिए 500 सार्वजनिक शौचालय, यूरिनल बनाएं जाएंगे। (संरक्षक- मेयर सीता साहू, नगर निगम)
2. शहर में महिलाओं और बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए डीआइजी विशेष अभियान चलाएंगे। (संरक्षक- पटना पुलिस, डीआईजी)
3. पीएमसीएच, एनएमसीएच जैसे बड़े अस्पतालों पर दबाव कम करने के लिए वार्ड स्तर पर पॉली क्लीनिक खुलेंगे। पहले चरण में पांच वार्डों से इसकी शुरुआत इसी साल होगी। (संरक्षक- डॉ. विनय बहादुर सिन्हा, बिहार रेडक्रॉस सोसाइटी)
4. आंखों के इलाज के लिए सात जगहों पर विजन सेंटर की स्थापना होगी। (संरक्षक- साईं नेत्रालय)
5. शहर में गरीब और स्लम में रहने वाले बच्चों के लिए 40 शिक्षण केंद्रों की शुरुआत होगी। (संरक्षक- बिहार प्राइवेट स्कूल चिल्ड्रेन वेलफेयर)
6. अदालतगंज तालाब का जीर्णोद्धार होगा। इसके सुंदरीकरण की व्यवस्था होगी। (संरक्षक- को-ऑपरेटिव फिशरीज फेडरेशन)
7. शहर के दो सरकारी स्कूलों को हैप्पी स्कूल बनाएगा। फुलवारीशरीफ के दो सरकारी स्कूलों का चयन भी कर लिया गया है। (संरक्षक- इनर व्हील क्लब ऑफ पटना)
8. गंदगी और कूड़े के निस्तारण के लिए शहर के मुख्य चौराहों और स्थानों पर डस्टबिन लगाए जाएंगे। (संरक्षक- नगर निगम, खत्री समाज, कोबरा सेंटीमेंटल)
9. महिलाओं के कौशल विकास के लिए कम्प्यूटर ट्रेनिंग से लेकर सिलाई-कढ़ाई सिखाने तक की व्यवस्था की जा रही है। (संरक्षक- बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज)
10. कॉलेजों और सरकारी स्कूलों में छात्राओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दिलाई जाएगी। (संरक्षक- मां प्रेमा फाउंडेशन)
11. महिला कॉलेजों में सैनेटरी वेंडिंग मशीन लगाई जाएगी। (संरक्षक- लायंस क्लब ऑफ पटना)

By Krishan Kumar