पटना [जेएनएन]। बिहार बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में गणित के पेपर में सिलेबस से बाहर के प्रश्न पूछे जाने के आरोप लगाते हुए परीक्षार्थियों ने बीते 24 फरवरी को जमकर बवाल काटा था। इस दौरान राज्‍य के करीब दो दर्जन जिलों में छात्रों ने आंदोलन खड़ा कर दिया था। परीक्षार्थियों की मांग को देखते हुए अब बिहार बोर्ड (बिहार विद्यालय परीक्षा समिति) ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्‍यीय जांच कमेटी बना दी है। इसकी रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी। समिति अगर प्रश्‍नपत्र में परीक्षार्थियों के आरोप को सही पाती है तो पेपर रद भी किया जा सकता है।

बिहार बोर्ड के अध्‍यक्ष आनंद किशोर ने मैट्रिक के गणित विषय के प्रश्‍न पत्र की जांच के आदेश दिए हैं। उन्‍होंने इसके लिए विशेषज्ञों की तीन सदस्यीय विशेषज्ञ समिति गठित करने की घोषणा की है। अध्यक्ष ने बताया कि समिति गणित विषय में पूछे गए प्रश्नों की जांच कर एक सप्‍ताह में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। इस रिपोर्ट के आधार पर बोर्ड निर्णय लेगा।

बताया जा रहा है कि समिति अगर पश्‍न पत्र को सिलेबस के बाहर पाती है तो गणित की परीक्षा रद की जा सकती है। ऐसी स्थिति में बोर्ड गणित विषय की परीक्षा फिर से ले सकती है।

Edited By: Amit Alok

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट