पटना, जेएनएन। बिहार राज्य महिला आयोग में मंगलवार को लव जिहाद एक मामला सामने आया है। चार साल पहले प्रेम विवाह करने वाले युवक ने धर्म नहीं बदलने पर अब अपनी पत्नी को साथ रखने से इनकार कर दिया है। इतना ही नहीं, युवक अपनी पत्नी के साथ उसकी मां पर भी धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बना रहा है। बतौर पीडिता पति-पत्नी दोनों फिलहाल पटना विश्वविद्यालय में बीएड की पढ़ाई कर रहे हैं। 

पढ़ाई के दौरान मुंगेर निवासी युवक से हुआ संपर्क

पटना सिटी की रहने वाली पीड़िता ने आयोग में आवेदन देते हुए बताया है कि पटना विवि में पढ़ाई के दौरान उसे मुंगेर निवासी युवक से प्यार हो गया। घर वालों के विरोध के बावजूद युवक से चार साल पहले कोर्ट मैरिज कर ली। पीड़िता हिंदू और उसका पति मुस्लिम समुदाय से संबंध रखता है।

मां पर मुस्लिम धर्म अपनाने के लिए बनाया दबाव

शादी के चार साल गुजरने के बाद युवक ने अपनी पत्नी और उसकी मां पर मुस्लिम धर्म अपनाने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया। ऐसा नहीं करने पर उसने पत्नी को साथ रखने से इनकार कर दिया है। पीड़िता ने आयोग से गुहार लगाई है कि उसका पति से बिना धर्म परिवर्तन किए स्वीकार करे। मामले को लेकर पीड़िता ने राज्य महिला की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा से गुहार लगाई है। पीड़िता ने बताया कि उसने चार साल पहले प्रेम विवाह किया था। उस वक्त घर वालों ने विराध किया था, मगर वो नहीं मानी। शादी के चार साल बाद पति धर्म परिवर्तन के लिए कहने लगा। 

सोचने का वक्त दिया जाना चाहिएः राज्य महिला आयोग

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा ने कहा कि पीड़िता की शिकायत मिली है। दोनों ने कोर्ट से शादी की है, इसलिए उन्हें सोचने का वक्त दिया जाना चाहिए। आयोग ने मामले की अगली सुनवाई के लिए फरवरी महीने की तारीख तय की है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप