पटना [राज्य ब्यूरो]। मुंबई के एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट से डिस्चार्ज होने के बाद शनिवार को पटना लौटे राजद प्रमुख लालू प्रसाद लगतार दूसरे दिन मीडिया से दूर हैं। इसके पहले शनिवार को पटना पहुंचने पर उन्‍होंने मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से इनकार किया। हवाई अड्डे पर व्हील चेयर पर बैठकर लालू जैसे ही बाहर निकले, पत्रकारों ने मुजफ्फरपुर कांड को लेकर सवालों की झड़ी लगा दी। इसपर उन्होंने कहा कि मेरा बोलना मना है। मैं कुछ नहीं बोलूंगा। मेरी तबीयत भी ठीक नहीं है।

बिहार में मुजफ्फरपुर एवं पटना समेत कई जिलों के बालिका गृहों में दुष्कर्म की खबरों से संबंधित सवालों पर लालू ने कहा कि बिहार में जो हुआ सो हुआ, मुझे कुछ नहीं बोलना है। राजद के राष्ट्रीय महासचिव भोला यादव ने व्हील चेयर के सहारे लालू को हवाई अड्डे से बाहर निकाला और सीधे 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर ले गए। पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने लालू की देखरेख की कमान खुद संभाल ली। इस दौरान पार्टी नेताओं-कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों को भी लालू से मिलने की इजाजत नहीं दी गई।

रविवार को दूसरे दिन भी लालू आराम कर रहे हैं। वे गिनती के कुछ खास लोगों के अलावा किसी से नहीं मिले हैं। मीडिया से वे आज भी दूर हैं।

संक्रमण से दूर रहने की सलाह

विधायक भोला यादव ने बताया कि मुंबई में राजद प्रमुख का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने उन्हें संक्रमण से बचने की सलाह दी है। डॉ. रमाकांत पांड्या ने कहा है कि लालू के ऑपरेशन का घाव जबतक सूख नहीं जाता तबतक उन्हें संक्रमण से बचाना जरूरी है। वैसे लोगों को भी उनके करीब नहीं जाने देना है, जो किसी तरह के संक्रमण से प्रभावित हैं। साथ ही उनके तीमारदारों की भी नियमित जांच कराते रहने की सलाह दी गई है ताकि संक्रमण का पता चलते ही एहतियात बरतर जा सके।

विदित हो कि चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद को झारखंड हाईकोर्ट ने 30 अगस्त तक समर्पण करने का आदेश दिया है। लालू फिलहाल मेडिकल ग्राउंड पर जमानत पर हैं। यह अवधि 27 अगस्त को खत्म हो रही है। हालांकि अभी तय नहीं है कि वह कब समर्पण करने जाएंगे, लेकिन माना जा रहा है कि वह 30 अगस्त को ही सुबह की फ्लाइट से पटना से रांची के लिए रवाना होंगे।

Edited By: Amit Alok