पटना, आनलाइन डेस्‍क। Khan Sir News: खान सर का नाम इंटरनेट की दुनिया में जाना-पहचाना है। रेलवे भर्ती परीक्षा के परिणाम के विश्लेषण का उनका एक वीडियो वायरल (Video Viral) हो गया है, जिसमें वे परीक्षार्थियों को परीक्षा परिणाम के कथित गड़बड़ी की जानकारी दे रहे हैं। साथ ही अपने हक के लिए आंदोलन करने की बात कर रहे हैं। रेलवे के खिलाफ छात्रों के बड़े आंदोलन को लेकर प्रशासन ने इस वीडियो को उकसाने वाला माना है। पुलिस ने उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज (FIR Lodged) कर कार्रवाई शुरू कर दी है। सवाल यह है कि आखिर कौन हैं खान सर और क्‍या है उनकी खासियत? बड़ा सवाल यह भी कि उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पैदा हुए खान सर पटना वाले खान सर कैसे बन गए?

सरल भाषा और ठेठ बिहारी अंदाज के दीवाने हैं छात्र

बिहार के पटना में अपना कोचिंग सेंटर चलाने वाले खान सर इंटरनेट की दुनिया में जाना-पहचाना नाम हैं। उनके यू-ट्यूब चैनल 'खान जीएस रिसर्च सेंटर' (Khan GS Research Centre) की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इसे करीब 1.45 करोड़ लोग फालो करते हैं। खान सर सामान्‍य अध्‍ययन व सम-सामयिक घटनाक्रम को सरल भाषा और ठेठ बिहारी अंदाज में ऐसे समझाते हैं कि छात्र उनके दीवाने हो जाते हैं। खान सर के इस यू-ट्यूब चैनल के वीडियो को लाखों व्‍यू मिलते हैं। उनके कई वीडियो के व्‍यू तो दो से तीन करोड़ तक पार कर चुके हैं।

जेल पर भी बना चुके वीडियो, अब जेल जाने की नौबत

खान सर का एक वीडियो जेलों को लेकर है, जो 4.4 करोड़ से ज्यादा बार देखा गया है। खास बात यह कि अब एफआइआर के बाद गिरफ्तारी होती है तो खान सर जेल का रियल टाइम अनुभव करेंगे। संभव है कि बाहर आने के बाद वे कोई नया वीडियो बना दें।

असली नाम पहेली, कहते हैं- नाम नहीं काम से पहचान

खान सर आखिर हैं काैन, इसपर तरह-तरह की बातें हवा में रहीं हैं। उनके असली नाम पर भी सवाल उठाए जाते रहे हैं। कुछ लोग उनका नाम फैसल खान बताते हैं तो कुछ उन्हें अमित सिंह कहते हैं। इसपर एक राय नहीं है। खान सर को लेकर यह सस्‍पेंस उनके खिलाफ दर्ज की गई पुलिस एफआइआर में भी कायम है। खान सर कहते हैं कि उनकी पहचान नाम नहीं काम से है।

सेना में जाने की इच्‍छा रही अधूरी, बाद में बने टीचर

जो भी हो, खान सर का जन्म दिसंबर, 1993 में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में हुआ था। उनके पिता भारतीय सेना (Indian Army) में अधिकारी रहे, जो अब रिटायर हो चुके हैं। बड़े भाई सेना में कमांडो बताए जाते हैं। बताया जाता है कि खान सर भी शिक्षा के क्षेत्र में आने के पहले सेना में जाना चाहते थे। उन्‍होंने नेशनल डिफेंस एकेडमी (NDA) की परीक्षा क्लीयर भी कर लिया था, लेकिन हाथ थोड़ा टेढ़ा होने के कारण उनका फाइनल सलेक्‍शन नहीं हो सका। इसके बाद उन्‍होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University) से बीएससी और एमएससी की डिग्री हासिल की। फिर छात्रों को प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कराने में लग गए।

खान सर का पहले भी रहता आया विवादों से नाता

खान सर का पहले भी विवादों से नाता रहा है। पहले भी वे समुदाय विशेष में ज्यादा बच्चे पैदा करने, पंक्चर बनाने तथा पाकिस्तान में फ्रांस के राजदूत को देश से निकालने आदि अपनी टिप्पणियों को लेकर चर्चा में रह चुके हैं। उनके हिंदू या मुसलमान होने को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं।

Edited By: Amit Alok