पटना, राज्य ब्यूरो। राजद कार्यालय में पार्टी के जिला निर्वाचन पदाधिकारियों एवं सहायक जिला निर्वाचन पदाधिकारियों की बैठक हुई। अध्यक्षता राज्य निर्वाचन पदाधिकारी डा तनवीर हसन और संचालन सहायक राज्य निर्वाचन पदाधिकारी देवकिशुन ठाकुर ने किया। सहायक राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी चितरंजन गगन ने राजद के संगठनात्मक चुनाव एवं उसकी प्रक्रिया को विस्तार से बताया। प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि हम सब ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को मुख्यमंत्री बनाने का जो संकल्प लिया है, इसे मूर्तरूप देने के लिए बूथ कमेटियों को सशक्त बनाना और सांगठनिक संरचना को प्रभावशाली बनाना जरूरी है। 

यह भी पढ़ें : Bihar Politics:भाजपा-जदयू गठबंधन कब तक...सीनियर जेडीयू लीडर का आ गया जवाब

 संगठन का निष्‍पक्ष रूप से कराया जाएगा चुनाव 

उदय नारायण चौधरी ने कहा कि सभी जिलों के निर्वाचन पदाधिकारियों को दिशा-निर्देश का पालन करते हुए निष्पक्ष तरीके से चुनाव संपन्न कराना है। तनवीर हसन ने कहा कि बूथ से लेकर जिला स्तर तक कमेटियां बनाकर सूची ससमय उपलब्ध कराएं, ताकि निष्पक्ष चुनाव कराया जा सके। बैठक में प्रधान महासचिव आलोक मेहता, चितरंजन गगन, प्रदेश उपाध्यक्ष वृषिण पटेल, शिवचंद्र राम, विधायक रणविजय साहू, राकेश कुमार रौशन, फतेह बहादुर सिंह, सतीश कुमार दास, सारिका पासवान, विनय यादव, पूर्व मंत्री चंद्रशेखर, सीताराम यादव, शक्ति सिंह यादव, मो.कारी सोहैब, कार्तिकेय कुमार, ई. अशोक यादव, अजय कुमार सिंह, सौरभ सिंह, रिंकू यादव, केदार प्रसाद, ऋषि मिश्रा, सच्चिदानंद यादव, एज्या यादव, श्रवण कुशवाहा, अनिल साधु, उर्मिला ठाकुर, ऋतु जायसवाल आदि उपस्थित थे। 

कांग्रेस का तेवर के साथ सड़क पर उतरना शुभ संकेत : शिवानंद

कई मौकों पर कांग्रेस की आलोचना करने वाले राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी शुक्रवार को सोनिया गांधी और राहुल गांधी के पक्ष में खड़े नजर आए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का तेवर के साथ सड़क पर उतरना शुभ संकेत है। कांग्रेस के पूर्व निर्धारित कार्यक्रम को जिस तरह सरकार द्वारा रोकने का प्रयास किया गया वैसा कभी देखा नहीं गया। सोनिया गांधी के आवास सहित कांग्रेस मुख्यालय पर सैकड़ों की संख्या में पुलिस वालों को खड़ा कर दिया गया। एक राजनीतिक पार्टी को कार्यक्रम करने से रोकने की कोशिश लोकतंत्र की हत्या करने के समान है।

भाजपा का दिख रहा है ढोंग

शिवानंद ने कहा कि देश में आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। घर-घर झंडा का अभियान चला रहा है। आजादी की लड़ाई या उसके बाद वर्षों तक जिस तिरंगे को इन्होंने मान्यता नहीं दी, आज उसके प्रति आदर के ढोंग का प्रदर्शन किया जा रहा है। देश के साथ प्रेम और भक्ति हर नागरिक के मन का स्वभाविक भाव है। किंतु भाजपा के प्रदर्शन में ढोंग का भाव झलक रहा है। राजद नेता ने कहा कि 26 जनवरी 1930 को संपूर्ण देश में तिरंगा फहरा कर स्वराज की घोषणा की गई थी। आज घर-घर झंडा के ढोंग के साथ लोकतंत्र को कुचलने की कोशिश हो रही है। इसका विरोध किया जाना चाहिए। 

यह भी पढ़ें :महिला करने लगी गलत काम, फोन पर ग्राहकों से डीलिंग के बाद बुलाती थी घर, बिहार के दरभंगा का दंग करने वाला मामला

Edited By: Vyas Chandra