पटना [जेएनएन]। बिहार में क्राइम ग्राफ में तेजी से इजाफा हो रहा है। अपराधी पुलिस को लगातार चुनौती दे रहे हैं। अपराधियों ने महज कुछ ही घंटे में सूबे के अलग-अलग जिलों में तीन हत्याएं कर दीं। मुजफ्फरपुर में बीजेपी नेता की हत्या के बाद अब पटना के बख्तियारपुर में रिटायर आर्मी और सुपौल के लौकहा में दुकानदार की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है।    

पटना के बख्तियारपुर से मिल रही जानकारी के अनुसार घनश्यामपुर में बीती रात मवेशी चोरों ने आर्मी के रिटायर सूबेदार और उनके भतीजे को गोली मार दी। इसमें रिटायर सूबेदार नवल सिंह की मौत हो गई, जबकि भतीजा चंदन कुमार का इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा है।  

बताया जाता है कि कुछ लोग रिटायर सूबेदार के घर से पशु चुराने आये थे। इसी दौरान घर के लोग जग गये और मामला समझते ही विरोध शुरू कर दिया। चोर ने खुद को घिरते देख दोनों पर गोली चला दी। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची। मामले की छानबीन की जा रही है।

उधर सुपौल में चाउमिन दुकानदार की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है। बताया जाता है कि दुकानदार से उनका पुराना विवाद था तथा बीती रात प्याज लेने को लेकर बहस शुरू हो गई। इसके बाद उनलोगों ने दुकानदार को गोली मार दी। अस्पताल ले जाने के दौरान उसकी मौत हो गई। मृतक लौकहा ओपी के लतरहा गांव का रहनेवाला बलराम पासवान था। 

उधर हत्या का कारण जमीन विवाद बताया जा रहा है। गम्हरिया थाना के कमलजरी गांव का रहने वाला 35 वर्षीय बलराम पासवान लतराहा आया हुआ था। लतराहा में उसकी ससुराल है। यहां नवाह अष्टयाम हो रहा था और बलराम वहां चाऊमिन का ठेला लगाए हुए था। घटना के समय उसके पास दो-तीन युवक आये और चाऊमिन खाने के क्रम में उससे प्याज की मांग करने लगे। इसे लेकर विवाद हुआ तो युवकों ने दुकानदार की गाेली मारकर हत्‍या कर दी।

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर थाना क्षेत्र के खेमकरण पकड़ी चौक पर अज्ञात अपराधियों ने बीजेपी नेता बैजू साह (50) को गोलियों से भून डाला। बुधवार की शाम लगभग 7.30 बजे उन्हें पांच गोलियां मारी गईं। गंभीर स्थिति में एसकेएमसीएच के निकट एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी मौत हो गई। पुलिस ने घटनास्थल से पिस्टल के तीन खोखे बरामद किये हैं। यह क्षेत्र नक्सलियों के प्रभाव वाला माना जाता है। वहीं अपराधियों के पैदल आने से यह आशंका हो रही है कि सभी अपराधी आसपास के थे। घटना के पीछे आपसी रंजिश या जमीन संबंधी विवाद की आशंका व्यक्त की जा रही है।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप