पटना, जेएनएन। भाजपा और जदयू के नेताओं के बीच तल्ख बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है। भाजपा के विधानपार्षद सच्चिदानंद राय ने अब सीएम नीतीश कुमार पर ही बड़ा आरोप लगाया है और कहा है कि उनकी नीयत पर शक होता रहता है।

भाजपा नेता ने कहा कि उन्होंने विवादित बयान देने के लिए अपने नेताओं को खुली छूट दे रखी है। नीतीश कुमार तो खुद ही लोकसभा चुनाव के दौरान अपना मतदान करने के बाद विवादित बयान दिया था, उस वक्त उन्हें ये कहने की क्या जरुरत थी कि हम 35A और 370 पर भाजपा के इस मुद्दे का समर्थन नहीं करते?

राय ने कहा के भाजपा के नेता संयमित भाषा का इस्तेमाल करते हैं और जदयू में बलियावी जैसे नेता जिस तरह का बयान देते हैं, उससे तो लगता है कि एेसे नेताओं के सिर पर शीर्ष नेताओं का हाथ रहता है। तभी तो वो एेसे बयान देते हैं। एेसे में अगर गठबंधन टूटता है तो इससे घाटा जदयू को ही होगा। 

सच्चिदानंद राय के इस बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए जदयू नेता केसी त्यागी ने कहा कि इस तरह के बयान देने पर एेसे नेताओं पर भाजपा को नोटिस जारी करनी चाहिए। इस तरह के बयान पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को संज्ञान लेना चाहिए। दोनों पार्टियों पर इसका खराब असर पड़ सकता है।

त्यागी ने कहा कि  नीतीश कुमार बड़ा चेहरा हैं और इस तरह से कोई उनके बारे में बोले ये ठीक नहीं है। नीतीश कुमार को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी औऱ रामविलास पासवान बड़ा नेता मानते हैं, एेसे में एेसी बयानबाजी पर कार्रवाई होनी चाहिए। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kajal Kumari