पटना, आनलाइन डेस्‍क। Bihar Politics: बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव गुरुवार को कई इलाकों के दौरे पर थे। इसी दौरान वे गोपालगंज जिले से गुजरे और बैकुंठपुर के विधायक प्रेम शंकर के पैतृक गांव में कुछ महिलाओं के बीच रुपए बांटते नजर आए। बताया जा रहा है कि ये महिलाए बाढ़ प्रभावित इलाके की थीं। अपनी कार में बैठे-बैठे ही तेजस्‍वी ने इन महिलाओं को 500-500 रुपए के नोट थमाए। इस पूरे प्रकरण पर जनता दल यूनाइटेड के मुख्‍य प्रवक्‍ता और राज्‍य के पूर्व जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने तंज कसा है। उन्‍होंने लालू यादव को भी निशाना बनाते हुए तेजस्‍वी को राजकुमार बताया है। नीरज ने कहा कि तेजस्‍वी को कोई जानता तक नहीं, उन्‍हें पहचानता तक नहीं।

महिलाओं को बतानी पड़ी तेजस्‍वी की पहचान

दरअसल तेजस्‍वी पर तंज कसने का मौका जदयू को राष्‍ट्रीय जनता दल के फेसबुक पेज पर पोस्‍ट किए गए एक वीडियो से मिला है। इसमें एक शख्‍स महिलाओं को तेजस्‍वी की पहचान बताता सुना जा रहा है। यह शख्‍स वीडियो में दिखाई तो नहीं दे रहा है, लेकिन उसकी आवाज साफ तौर पर सुनी जा सकती है। यह वीडियो उसी दौरान का है, जब तेजस्‍वी महिलाओं को रुपए बांट रहे थे। वीडियो में पहले एक आवाज सुनाई पड़ती है, जिसमें कोई पूछता है कि‍ कौन साहब हैं?

तेजस्‍वी यादव, लालू जी के बेटा हैं

महिलाओं की ओर से कोई जवाब नहीं मिलने पर कोई बोलता है- तेजस्‍वी हैं, तेजस्‍वी यादव... लालू जी के बेटा। जदयू प्रवक्‍ता नीरज ने इसी बात पर तंज कसा है। कविता की शैली में ट्वीट करते हुए उन्‍होंने लिखा है कि तेजस्‍वी को कोई पहचानता तक नहीं है। उन्‍होंने लालू परिवार को आर्थिक लुटेरा बताते हुए कहा है- जाओ बबुआ अपनी पहचान बनाओ, आर्थिक लुटेरे होने का दाग मिटाओ।

फेसबुक वीडियो पर आए तरह-तरह के कमेंट

राजद की ओर से शेयर किए वीडियो पर फेसबुक यूजर्स ने तरह-तरह के कमेंट किए हैं। ज्‍यादातर यूजर ने गरीबों की मदद के लिए तेजस्‍वी की तारीफ की है तो कुछ लोग तंज कसते भी दिखे हैं। कई यूजर ने भी यह सवाल उठाया है कि तेजस्‍वी की पहचान लालू यादव का बेटा होने से अधिक नहीं है। कुछ लोगों ने इसे वोट खरीदने का तरीका बता दिया है।