पटना, राज्य ब्यूरो। Bihar Police News: थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराना कितना मुश्किल काम है, यह भी भला किसी को बताने की जरूरत है। सामान्‍य आदमी तो थाने के नाम से ही डरता है। लेकिन, बिहार में अब शिकायत दर्ज कराने के लिए थाने तक जाना जरूरी नहीं रह गया है। यह काम आप घर बैठे आनलाइन भी कर सकते हैं। दरअसल, बिहार पुलिस ने नए रंग-रूप के साथ अपनी वेबसाइट लांच की है। इसमें आम जनता से जुड़ी कई सेवाओं को सुलभ बनाया गया है। आनलाइन शिकायत (online police complaint in Bihar) के लिए भी अलग से बटन है। आप वेबसाइट के अलावा एंड्रायड और एप्‍पल के मोबाइल एप के जरिये भी बिहार पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। यहां आपको पूरी जानकारी के साथ ही पोर्टल और एप का डायरेक्‍ट लिंक भी मिलेगा।

शिकायत दर्ज करते ही सक्रिय होगा विभाग

आनलाइन दर्ज कराई गई हर शिकायत का समाधान निश्चित समय में किया जाएगा। शिकायत दर्ज करते ही बिहार पुलिस की शिकायत निवारण प्रणाली काम करना शुरू कर देगी। बिहार पुलिस मुख्‍यालय से ही शिकायत को संबंधित अधिकारी तक भेज दिया जाएगा। इस प्रणाली में आप अपनी शिकायत की स्थिति किसी भी समय चेक कर सकते हैं। शिकायत पर होने वाली हर कार्रवाई का विवरण आपके मोबाइल पर मैसेज के जरिये मिलता रहेगा।

तकनीकी विंग करेगा शिकायत दर्ज होते ही काम

बिहार पुलिस की वेबसाइट पर आम लोगों की तरफ से आने वाली शिकायतों को मुख्य रूप से नौ कालम में बांटा गया है। जरूरत के अनुसार शिकायत के प्रत्येक प्रकार के उपभाग भी दिए गए हैं। आम लोगों की शिकायत पर पुलिस मुख्यालय का तकनीकी विंग कैसे काम करता है, इसकी भी जानकारी दी गई है। इसके साथ ही किसी समस्या पर वेबसाइट से संबंधित लोगों के नंबर भी उपलब्ध कराए गए हैं।

नौ तरह की शिकायतों का आनलाइन समाधान

नई वेबसाइट में आम लोगों की होने वाली शिकायतों को नौ भाग में बांट दिया गया है। इसमें साम्प्रदायिक मुद्दों पर शिकायत, पुलिस के खिलाफ शिकायत, मद्य निषेध से जुड़े मामले, विविध क्राइम, नक्सल संबंधी समस्या, किसी के शरीर पर हुए अपराध, संपत्ति को लेकर हुए अपराध, ट्रैफिक संबंधित अपराध और महिला मामलों से जुड़े अपराध को लेकर शिकायत की जा सकती है।

पुलिस के खिलाफ भी कर सकेंगे शिकायत

पुलिस के खिलाफ शिकायत के कालम को भी पांच उप भागों में बांटा गया है। इसमें एक्शन संबंधित, काम करने के लिए पैसे की मांग, पुलिस का खराब व्यवहार, किसी मामले में पुलिस की कार्रवाई आदि नहीं करने का काम मामला आनलाइन दर्ज किया जा सकता है। मद्य संबंधित मामलों में भी पांच प्रकार के मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं, अन्य अपराधों का भी वर्गीकरण किया गया है।