पटना [जेएनएन]। बिहार पुलिस में सिपाही के 11,880 पदों पर भर्ती के लिए रविवार को 6.50 लाख अभ्यर्थियों की परीक्षा हो रही है। इस बीच प्रश्‍नपत्र लीक होने की चर्चा के बीच पहली पाली की परीक्षा संपन्‍न हो चुकी है। परीक्षार्थियों ने लीक प्रश्‍नपत्र को फर्जी बताया है। ऐसे में यह आशंका है कि परीक्षा के दलालों ने प्रश्‍नपत्र लीक करने के नाम पर फर्जी प्रश्‍नपत्र की बिक्री की है। उधर, पुलिस मुख्यालय और सिपाही चयन पर्षद के अध्यक्ष  केएस द्विवेदी ने कहा है कि प्रश्‍नपत्र लीक या वायरल नहीं हुआ है।

दो पालियों में हो रही भर्ती परीक्षा

बिहार के कइ जिलों में रविवार को दो पालियों में सिपाही भर्ती की परीक्षा आयोजित की गई है। प्रत्येक पाली में 3.25 लाख अभ्यर्थी बुलाए गए हैं। पहली पाली की परीक्षा सुबह 10 से 12 बजे और दूसरी पाली दोपहर दो से चार बजे की बीच आयोजित की गई है।

प्रश्‍नपत्र लीक की चर्चा से मचा हड़कम्‍प

इस बीच प्रश्‍नपत्र के वायरल होने की चर्चा होने से परीक्षार्थी व अभिभावक दिनभर परेशान रहे। इससे प्रशासन में भी हडकम्‍प मच गया। बाद में पहली पाली की परीक्षा देकर निकले परीक्षार्थियों ने लीक प्रश्‍नपत्र को फर्जी करार दिया। यह अफवाह कहां से और कैसे उड़ी, इसकी जांच शुरू है। माना जा रहा है कि शिक्षा व रोजगार के दलालों ने फर्जी प्रश्‍नपत्र लीक कर उसे बेचा है। प्रश्‍नपत्र लीक की चर्चा शनिवार शाम से ही है।

चयन पर्षद का प्रश्‍नपत्र लीक से इनकार

इस बाबत पुलिस मुख्यालय और सिपाही चयन पर्षद के अध्यक्ष  केएस द्विवेदी ने बताया कि कहीं से कोई प्रश्‍नपत्र लीक या वायरल नहीं हुआ है। सिपाही चयन पर्षद का दावा है कि 24 सेट में प्रश्न पत्र तैयार किए गए हैं। अगर किसी केंद्र पर कोई केंद्राधीक्षक पेपर आउट करने की कोशिश भी करे, तब भी हेराफेरी आसान नहीं है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस