जागरण संवाददाता, दिघवारा(सारण)। अवतार नगर थाना क्षेत्र के बोधा छपरा बालू घाट पर शुक्रवार की सुबह लगभग सात बजे नाव से बालू  उतारने के क्रम में अरार धंस गया। जिससे एक बड़ा हादसा हो गया। अरार धंस कर गिरने से लगभग आधा दर्जन दब गए। जिसमें दौ मजदूर की मौत मौके पर ही हो गई। जबकि अन्य घायल हो गए। मृतक दोनो मजदूर की  पहचान मुजफ्फरपुर जिला के सकरा थाना के बाजी बुजुर्ग गांव के योगेन्द्र मुखिया के 28 वर्षीय पुत्र धीरज कुमार तथा मनोज मुखिया के 23 वर्षीय पुत्र कुंदन कुमार बताए गए है। जबकि राजा कुमार व अन्य घायल जिनमे कुछ का इलाज सीएचसी तथा कुछ का इलाज नजदीक के निजी अस्पताल में चल रहा है।

घटना के संबंध बताया जाता है कि बालू पर रोक के बावजूद गंगा के जलस्तर में वृद्धि होते ही अवतार नगर व दिघवारा क्षेत्र के गंगा घाटों पर अवैध बालू के कारोबारी बड़े पैमाने पर सक्रिय हो गए। इसी क्रम में अवतार नगर थाना क्षेत्र के बोधा छपरा घाट पर अवैध बालू से लदे नाव से घाट पर बालू भंडारण के क्रम में शुक्रवार की सुबह अरार धंस गया। जिसमें लगभग आधा दर्जन मजदूर दब गए। घटना के बाद बहुत मुश्किल से मजदूरों को बाहर निकाला गया। जिसमें दो मजदूर की मौत मौके पर हो गई लेकिन साथी मजदूर उन्हे इलाज के लिए सीएचसी दिघवारा लेकर पहुंचे जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

सूचना पर दिघवारा थाना के एएसआई संजय कुमार पहुंच दोनो शवों को कब्जे में लेते हुए अग्रेतर कार्रवाई के लिए अवतार नगर थाना पुलिस को शव सुपूर्द कर दिया। मृतकों के स्वजनों को सूचना दे गई। स्थानीय लोगों के अनुसार बालू घाटों पर लोडर, पोकलेन मशीन से आदि चलने व खनन से घाट पर अरार बन जाता है। मजदूर अरार से सटे नाव से बालू उतारते है। इन दिनों गंगा का जलस्तर बढ़ते ही अवैध बालू लदे नावों का परिचालन बड़े पैमाने पर शुरू है। अवतार नगर थाना क्षेत्र के झौवां ढाला, गोरांईपुर, बोधा छपरा, मथुरापुर दिघवारा थाना के बजरंग घाट, आमी घाट, ईशुपुर, सैदपुर, चकनूर, दिघवारा, पिपरा, रामदासचक, त्रिलोकचक व कुरैयां घाट अवैध बालू भंडारण का केंद्र बन जाता है। 

Edited By: Rahul Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट