पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। बिहार विधान सभा अध्‍यक्ष विजय कुमार सिन्‍हा पूरे प्रदेश में व्‍यापक जागरूकता अभियान चलाएंगे। यह अभियान सिर्फ आम लोगों के लिए ही नहीं बल्कि बिहार के विधायकों, मुखिया व अन्‍य जन प्रतिनिधियों के लिए भी होगा। जागरूकता अभियान की शुरूआत राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद विधानसभा अध्‍यक्ष के सरकारी आवास 2, देश रत्‍न मार्ग से करेंगे। दरअसल, अक्‍टूबर में बिहार विधान सभा भवन शताब्‍दी समारोह का भव्‍य आयोजन हो रहा है। समारोह में राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद शिरकत करेंगे। वे 20 अक्‍टूबर को पटना आएंगे। 21 अक्‍टूबर को बिहार विधान सभा भवन शताब्‍दी समारोह का आयोजन होगा। इसके बाद शाम में में सांस्‍कृतिक कार्यक्रम और रात्रि भोज का आयोजन है।

यह तख्‍ती होगी खास

अपने पटना प्रवास के दौरान राष्‍ट्रपति बिहार विधानसभा अध्‍यक्ष के सरकारी आवास पर एक खास तख्‍ती लगाएंगे। इसमें पांच सामाजिक अभिशापों से मुक्ति के नारे लिखे होंगे। ये नारें नहीं एक तरह से घोषणा होगी कि मेरा परिवार नशा मुक्‍त, अपराध मुक्‍त, बाल विवाह मुक्‍त, बाल श्रमिक मुक्‍त  और दहेज मुक्‍त है। इसके बाद विधानसभा अध्‍यक्ष हर जिले के एक विधानसभा क्षेत्र के विधायक के आवास पर जाकर उनकी सहमति से यह तख्‍ती लगाएंगे। इसके अलावा वे संबंधित जिले में पूरे दिन विभिन्‍न जागरूकता कार्यक्रम में शामिल होंगे। वे सुबह विरासत दर्शन, दोपहर युवा संसद आदि कार्यक्रम में भाग लेंगे। अंत में शाम में वे शहर के बुद्धिजीवियों के साथ विमर्श कार्यक्रम में भाग लेंगे। शताब्‍दी समारोह के अवसर पर यह सारे जागरूकता अभियान विधानसभा अध्‍यक्ष के नेतृत्‍व में चलाया जाएगा।

प्रत्‍येक विधायक से पांच-पांच बच्‍चों को गोद लेने की अपील

अध्‍यक्ष विजय सिन्‍हा ने बताया कि जागरूकता कार्यक्रम के तहत वे जनप्रतिनिधियों को प्रेरित कर रहे हैं कि प्रत्‍येक विधायक कोविड, अपादा या अन्‍य कारणों से अनाथ हुए  पांच-पांच बच्‍चों को गोद लें। उन्‍हें केंद्र सरकार व राज्‍य सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाते हुए उनके लालन-पालन व शिक्षा का खर्च उठाएं। बदले में इन बच्‍चों से उनकी क्षमतानुसार सामाजिक कार्यो के प्रति आजीवन संवेदनशील बनने का आग्रह करें।  विधानसभा अध्‍यक्ष ने कहा कि समाज में जाति, धर्म और लिंग भेद ये तीन बड़े अभिशाप हैं। इन्‍हें जागरूकता अभियान चलाकर भरसक खत्‍म करने की कोशिश होनी चाहिए। राजनीति में महिलाओं के 30 फीसदी आरक्षण के सवाल पर कहा कि 30 क्‍यों महिलाएं 50 फीसदी की हकदार हैं। वे आधी आबादी और आधी दुनिया हैं।

 

Edited By: Sumita Jaiswal