पटना, जागरण टीम। बिहार बोर्ड की ओर से मैट्रिक परीक्षा 2020 का रिजल्‍ट जारी कर दिया गया है। इसमें टॉप टेन में कुल 41 विद्यार्थियों ने बाजी मारी। उम्‍मीद के अनुसार इस बार सिमुलतला स्‍कूल के बच्‍चों का प्रदर्शन नहीं रहा। टॉप टेन में शामिल कुल 41 बच्‍चों में से 10 लड़कियों ने बाजी मारी। इसमें रैंक तीन से लेकर रैंक 10 तक पर लड़कियां शामिल हैं। इस 10 छात्राओं में अरवल की जूली बिहार भर की छात्राओं में अव्‍वल रहीं। आइए जानें गर्ल्स टॉपरों का क्‍या कहना है...  

गर्ल्स टॉपर जूली बनना चाहती हैं इंजीनियर

बिहार में तीसरे रैंक तथा छात्रों में टॉपर बनी जूली अरवल के शिक्षक मनोज कुमार सिन्‍हा की बेटी है। वह पढ़-लिख कर इंजीनियर बनना चाहती है। जूली ने इस सफलता का श्रेय अपने पैरेंट्स को दिया है।  

6ठे रैंक पर आने वाली स्‍तुति, ज्‍योति व दीपांशु कहती हैं 

6ठे रैंक पर तीन लड़कियां एक साथ आई हैं। इनमें स्‍तुति मिश्रा सहरसा तो ज्योति कुमारी व दीपांशु प्रिया समस्‍तीपुर की हैं। तीनों आइएएस अधिकारी बनना चाहती हैं। सहरसा के चैनपुर पड़री हाईस्कूल की छात्रा स्तुति मिश्रा ने मैट्रिक परीक्षा में 475 अंक लाकर अपनी प्रतिभा से सबको चौंका दिया है। तीन भाई-बहन में सबसे बड़ी स्तुति आगे चलकर यूपीएससी क्लीयर कर आइएएस बनना चाहती है। उसके पिता आशुतोष मिश्रा दिल्ली में प्राइवेट जाॅब करते हैं, वहीं मां सरकारी स्कूल में शिक्षिका हैं।

इसी तरह, समस्‍तीपुर के हरपुर एलौथ निवासी प्रमोद कुमार सिंह और बबीता कुमार की बेटी ज्‍योति कुमारी का कहना है कि शुरू से उसके मन में समाजसेवा की भावना रही है। जीविका के माध्यम से वह अपनी मां कोे समाज के लिए कुछ करते हुए देखा है। वहीं बेटी की सफलता से गदगद बबीता कहती हैं कि बेटी उनके अधूरे सपने को जरूर पूरा करेगी। 

समस्‍तीपुर की ही दीपांशु प्रिया भी आइएएस अधिकारी बनना चाहती है। पूसा प्रखंड के चकहाजी निवासी संजीव कुमार और विनीता कुमारी की बेटी दीपांशु ने गांव के स्कूल से ही प्रारंभिक पढ़ाई पूरी की है। किसान हाईस्कूल मोरसंड की छात्रा दीपांशु ने बताया कि समाज में कई सारी चुनौतियां हैं, जिनके लिए बहुत काम करने की जरूरत है। दीपांशु के पिता गांव में ही किराने की छोटी दुकान चलाते हैं। 

वैज्ञानिक बनना चाहती है 9वीं स्टेट टॉपर साक्षी 

मैट्रिक परीक्षा में स्टेट टॉप-10 में नौवें स्थान पर रही साक्षी कुमार वैज्ञानिक बनना चाहती है। परीक्षा में उसे 472 अंक प्राप्त हुए हैं। जिले के सुदूरवर्ती प्रखंड बिथान के सोहमा निवासी किसान वरुण कुमार वरुण और अंजनी देवी की चार संतान में दूसरे नंबर की साक्षी शुरू से कुशाग्र बुद्धि की है। स्वजन कहते हैं कि विज्ञान विषय में उसकी रुचि देखकर ही उसने वैज्ञानिक बनने की ठानी है। इसके लिए घर में उसका पूरा समर्थन है। विज्ञान से संबंधित उसके पाई कई अच्छी पुस्तकें भी हैं। टीवी या मोबाइल पर भी वह डिस्कवरी चैनल आदि ही देखती है।

पुलिस इंस्पेक्टर बनना चाहती है 10वीं स्टेट टॉपर मधुबाला 

मैट्रिक परीक्षा में गया का नाम रोशन करने वाली मधुबाला कुमारी पुलिस इंस्पेक्टर बनना चाहती है। उसने 471 अंकों के साथ टॉप 10 की सूची में 10वां स्थान प्राप्त किया है। किसान उच्च विद्यालय, शिवनगर ननदाई दीपचंडी डुमरिया गया की मेधावी छात्रा डुमरिया प्रखंड के सुनपुरा गांव की रहने वाली है। उसने बचपन से ही गांव में रहकर सरकारी स्कूल में पढ़ाई किया है। उसके पिता उदय कुमार हरियाणा में एक प्राइवेट कंपनी में काम करते थे, जो 15 मई को घर वापस आए हैं, जबकि मां सुमित्रा देवी गृहिणी हैं। मधुबाला ने कहा, वह सफल पुलिस इंस्पेक्टर बनकर देश की सेवा करना चाहती है। देश में जनता की सेवा करने वाले पुलिस इंस्पेक्टर की जरूरत है।

मैट्रिक की गर्ल्स टॉपरों की सूची 

रैंक       नाम जिला अंक 

3 जूली कुमारी अरवल 478

6 स्तुति मिश्रा सहरसा 475

6 ज्योति कुमारी समस्तीपुर   475

6 दीपांशु प्रिया समस्तीपुर   475

6 आफरीन तलत     रोहतास       475

8 अर्चना कुमारी  रोहतास 473

9 साक्षी कुमारी        समस्तीपुर 472

10 पायल कुमारी  अररिया       471

10   प्रिया कुमारी  रोहतास      471

10 मधुमाला कुमारी        गया                471

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस