Move to Jagran APP

Bihar Bijli Bill: बिहार में सस्ता होगा बिजली बिल, विद्युत दरों में होगी इतने फीसदी की कमी; नीतीश सरकार का एलान

विनियामक आयोग ने अपने निर्णय में कहा कि बिजली वितरण कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए टैरिफ में 3.03 प्रतिशत वृद्धि का प्रस्ताव दिया था। आयोग ने यह निर्णय लिया कि वितरण कंपनियों के राजस्व अधिशेष (सरप्लस) को ध्यान में रख इसे अस्वीकृत कर दिया गया। सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए वित्तीय वर्ष 2024-25 में बिजली की दरों में कमी किए जाने का फैसला लिया गया है।

By BHUWANESHWAR VATSYAYAN Edited By: Rajat Mourya Published: Fri, 01 Mar 2024 06:04 PM (IST)Updated: Fri, 01 Mar 2024 06:04 PM (IST)
Bihar Bijli Bill: बिहार में सस्ता होगा बिजली बिल, विद्युत दरों में होगी इतने फीसदी की कमी; नीतीश सरकार का एलान
बिहार में सस्ता होगा बिजली बिल, विद्युत दरों में होगी इतने फीसदी की कमी

राज्य ब्यूरो, पटना। Bihar Bijli Rate राज्य विद्युत विनियामक आयोग ने एक अप्रैल से आरंभ होने वाले नए वित्तीय वर्ष के लिए बिजली की नई दरों की घोषणा कर दी है। किसी भी श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए बिजली की दर में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। यह लगातार चौथा साल है जब बिजली की दर में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है। बिजली कंपनी ने बिजली की दर में तीन प्रतिशत की बढ़ोतरी से संबंधित याचिका राज्य विद्युत विनियामक आयोग को दी थी।

loksabha election banner

आयोग ने सुनवाई के बाद सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए अनुदान रहित बिजली की दर में दो फीसद कमी का फैसला लिया है। विनियामक आयोग के सदस्य अरुण कुमार सिन्हा व परशुराम सिंह यादव ने गुरुवार को अपना निर्णय प्रेस की मौजूदगी में सुनाया।

वितरण कंपनियों के सरप्लस के आधार पर नहीं हुई बढ़ोतरी

विनियामक आयोग ने अपने निर्णय में कहा कि बिजली वितरण कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए टैरिफ में 3.03 प्रतिशत वृद्धि का प्रस्ताव दिया था। आयोग ने यह निर्णय लिया कि वितरण कंपनियों के राजस्व अधिशेष (सरप्लस) को ध्यान में रख इसे अस्वीकृत कर दिया गया। सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए वित्तीय वर्ष 2024-25 में बिजली की दरों में कमी किए जाने का फैसला लिया गया है।

स्ट्रीट लाइट की बिजली दर कम हुई

मीटर रहित स्ट्रीट लाइटों के लिए निर्धारित बिजली शुल्क में भी बड़ी कमी की गयी है। अभी यह 7500 रुपए प्रति किलोवाट, प्रतिमाह है। इसे घटाकर 4250 रुपए कर दिया गया है।

ऑनलाइन बिजली बिल भुगतान को ले कोई सीलिंग नहीं

वर्तमान में ऑनलाइन सिस्टम के माध्यम से बिजली भुगतान पर बिल की राशि का एक प्रतिशत छूट के रूप में दिया जाता है। बिजली कंपनी ने नियामक आयोग को इसकी अधिकतम सीमा 20 हजार रुपए करने का प्रस्ताव दिया था। नियामक आयोग ने इसे अस्वीकृत कर दिया है।

बिहार विद्युत विनियामक आयोग के महत्वपूर्ण निर्णय

  • किसानों को अब फसल कटाई के चक्र के अनुसार बिजली बिल
  • ऑक्सीजन गैस निर्माताओं के लिए लोड फैक्टर प्रोत्साहन की सीमा 75 प्रतिशत से घटाकर 70 की गयी
  • मीटर रहित स्ट्रीट लाइटों के लिए निर्धारित शुल्क को वर्तमान के 7500 रुपए प्रति किलोवाट, प्रतिमाह से घटाकर 4250 रुपए किया गया

बिजली दरों में बदलाव

  • कुटीर ज्योति कनेक्शन की दर 7.90 रुपए प्रति यूनिट को घटाकर 7.42 रुपए किया गया
  • डीएस-1 श्रेणी के ग्रामीण उपभोक्ताओं को 7.90 रुपए प्रति यूनिट की जगह अब 7.42 रुपए
  • डीएस-2 श्रेणी के उपभोक्ताओं को 7.90 रुपए प्रति यूनिट की जगह अब 7.42 रुपए
  • ग्रामीण क्षेत्र के एनडीएस -1 ग्रामीण (मीटर वाले) उपभोक्ताओं के लिए 8.29 प्रति यूनिट की जगह 7.79 प्रति यूनिट
  • एनडीएस-2 के उपभोक्ताओं को 8.23 रुपए प्रति यूनिट की जगह 7.73 रुपए प्रति यूनिट

ये भी पढ़ें- Bihar Land Registry: अब इस नंबर के बिना नहीं होगी जमीन की रजिस्ट्री, सरकार ने नियमों में किया बड़ा बदलाव

ये भी पढ़ें- Deaf Bank Account: अपने बैंक अकाउंट को एक्टिव रखना बहुत जरूरी, वरना हो सकता है भारी नुकसान...


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.