जहानाबाद, जागरण संवाददाता। जिले के घोसी थाना परिसर के शौचालय में एक अभियुक्‍त ने गुरुवार को फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। मृतक जेसी यादव थाना क्षेत्र के लखावर का रहने वाला है। उसे एक मामले में पुलिस ने हिरासत में लिया था। इसी क्रम में उसने थाना परिसर के शौचालय में फंदा लगाकर जान दे दी। घटना से ग्रामीण आक्रोशित हैं। एसपी दीपक रंजन दल बल के साथ थाने में पहुंचे हैं। 

बाइक चोरी के मामले में  लिया गया था हिरासत में 

स्थानीय थाने की पुलिस की होश उस वक्त उड़ गया जब एक युवक थाना के शौचालय में फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। दरअसल थाना क्षेत्र के लखावर निवासी गिरिजेश कुमार उर्फ जेशी यादव को बुधवार को रात्रि में बाइक चोरी के मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था। गुरुवार को वह पुलिस हिरासत में ही थाने के परिसर में चौकीदार के साथ बैठा था। अचानक वह भागते हुए इंस्पेक्टर के कार्यालय से मोबाइल चार्जर उठाकर समीप के शौचालय में घुस गया। जैसे ही युवक भागने लगा तो चौकीदार आवाज लगाने लगा। पुलिस कर्मी आनन-फानन में युवक को पकड़ने के उद्देश्य से दौड़े लेकिन उसने शौचालय का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया।पुलिस कर्मी दरवाजा खोलने के लिए आवाज लगाने लगे, लेकिन दरवाजा नहीं खुला तब उसे तोड़ा गया। अंदर का नजारा देख पुलिसवाले सन्‍न रह गए। युवक मोबाइल चार्जर के तार के सहारे शौचालय के खिड़की में लगे लोहे के ग्रील से फंदा लगा अपनी जीवन लीला समाप्त कर चुका था। हालांकि पुलिस कर्मियों द्वारा उसे आनन-फानन में बाहर निकाला गया।

थाने पर लोगों ने जमकर किया पथराव

इस घटना की सूचना मिलते ही परिजनों के साथ-साथ बड़ी संख्या में ग्रामीण थाने पर पहुंच गए। उनलोगों द्वारा पुलिस प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए हंगामा किए जाने लगा। देखते ही देखते ही थाना परिसर रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। ग्रामीणों द्वारा ईंट पत्थर फेंके जाने लगे। इधर इस बात की भी चर्चा हो रही है कि भीड़ को इधर-उधर करने के उद्देश्य से पांच-छह राउंड फायरिंग भी की गई। हालांकि इसी पुष्टि फिलहाल प्रशासन द्वारा नहीं किया जा रहा है। पत्थरबाजी में एसडीओ निखिल धनराज निप्पणीकार सहित आधे दर्जन पुलिस कर्मी जख्मी हुए हैं। जख्मी पुलिस कर्मियों का इलाज स्थानीय पीएचसी में कराया गया। इधर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल जहानाबाद भेज दिया गया है।

Edited By: Vyas Chandra