Move to Jagran APP

Bihar Politics: चुनावी रण में असदुद्दीन ओवैसी के 4 हिंदू ट्रंपकार्ड, I.N.D.I.A ही नहीं NDA की भी बढ़ी सिरदर्दी!

Lok Sabha Elections 2024 बिहार में किसी गठबंधन में न रहने के बावजूद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम दोनों प्रमुख गठबंधन राजग और आईएनडीआईए के प्रत्याशियों को कुछ सीटों पर परेशान कर रही है। बिहार में ओवैसी की पार्टी के प्रत्याशी आठ संसदीय सीटों पर अपना भाग्य आजमा रहे हैं। चार सीटों पर मुसलमान तो चार पर हिंदू उम्मीदवार हैं।

By Raman Shukla Edited By: Mohit Tripathi Thu, 23 May 2024 11:45 PM (IST)
Bihar Politics: चुनावी रण में असदुद्दीन ओवैसी के 4 हिंदू ट्रंपकार्ड, I.N.D.I.A ही नहीं NDA की भी बढ़ी सिरदर्दी!
चुनावी रण में असदुद्दीन ओवैसी के 4 हिंदू ट्रंपकार्ड। (फोटो- एएनआई)

रमण शुक्ला, पटना। बिहार में किसी गठबंधन में न रहने के बावजूद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआइएमआइएम (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन) दोनों प्रमुख गठबंधन राजग एवं आइएनडीआइए के उम्मीदवारों को कुछ सीटों पर परेशान कर रही है।

राज्य में आठ संसदीय सीटों पर एआइएमआइएम ने प्रत्याशी भाग्य आजमा रहे हैं। पहले चरण में किशनगंज के बाद सीधे पांचवें, छठें और सातवें चरण में एआइएमआइएम ने अपने प्रत्याशी उतारे हैं। इनमें मधुबनी, मुजफ्फरपुर, शिवहर, गोपालगंज, महाराजगंज, पाटलिपुत्र और काराकाट जैसी सीट शामिल हैं।

चार सीटों पर हिंदू उम्मीदवार

चार सीटों पर मुसलमान तो चार पर हिंदू उम्मीदवार हैं। ओवैसी ने जिन सीटों पर हिंदू प्रत्याशी दिए हैं उनमें शिवहर, गोपालगंज, महाराजगंज एवं काराकाट हैं।

दूसरे उम्मीदवारों के लिए परेशानी पैदा हो या न हो, ओवैसी के उम्मीदवारों की परेशानी इस बात से बढ़ी हुई है कि अधिसंख्य सीटों पर उन्हें वोट काट कर किसी का खेल बिगाड़ने वाला मान लिया गया है। ये उम्मीदवार सीधे मुकाबले में अपने लिए तीसरा कोण भी नहीं बना पा रहे हैं।

शिवहर में राणा रणजीत सिंह दे पाएंगे टक्कर?

शिवहर में राणा रणजीत सिंह बतौर एआइएमआइएम प्रत्याशी अपने दिवंगत पिता सीताराम सिंह की हार का बदला लेने के लिए जदयू प्रत्याशी लवली आनंद के विरुद्ध ताल ठोक रहे हैं।

राणा रणजीत के भाई राणा रणधीर शिवहर लोकसभा क्षेत्र के मधुबन से भाजपा के विधायक हैं। एमआइएम प्रत्याशी को यहां अपने सगे भाई का भी समर्थन नहीं है। रणधीर राजग उम्मीदवार के लिए वोट मांग रहे हैं।

महराजगंज सीट पर AIMIM अखिलेश्वर ठोंक रहे ताल

छठे चरण के रण में महाराजगंज संसदीय सीट पर एआइएमआइएम से ताल ठोक रहे अखिलेश्वर प्रसाद सिंह तीसरे धनवान लड़ाके हैं। पर, वे भाजपा सांसद जर्नादन सिंह सिग्रीवाल और कांग्रेस के प्रत्याशी आकाश सिंह के बीच के मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने की स्थिति में नहीं दिख रहे हैं।

गोपालगंज में मांझी ने झोंकी ताकत

सुरक्षित सीट गोपालगंज में जदयू के सांसद डॉ. आलोक सुमन के सामने एआईएमआईएम ने दीनानाथ मांझी को उतारा है। हालांकि मांझी जदयू एवं वीआइपी (विकासशील इंसान पार्टी) के प्रत्याशी प्रेमनाथ चंचल पासवान के बीच आमने-सामने की लड़ाई में अपनी पहचान बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। अब देखना यह है कि मांझी को मतदाताओं का कितना आशीर्वाद मिलता है।

काराकाट में प्रियंका चौधरी कर पाएंगी कमाल?

वहीं, काराकाट सीट पर प्रियंका प्रसाद चौधरी को एआइएमआइएम ने प्रत्याशी बनाया है। प्रियंका चौधरी मल्लाह (सहनी) समुदाय से आती हैं।

इस सीट पर प्रियंका कुशवाहा और क्षत्रिय वोटों के बंटवारे अपना भविष्य देख रही हैं। जबकि, मधुबनी में वकार सिद्दीकी, मुजफ्फरपुर में मो. अंजारुल हसन एवं पाटलिपुत्र में संसदीय क्षेत्र से फारूकी राजा बतौर एआइएमआइएम प्रत्याशी भाग्य आजमा रहे हैं।

अब चुनाव परिणाम बताएगा कि 2020 के विधानसभा चुनाव की तुलना में 18वीं लोकसभा के दंगल में ओवैसी की पार्टी का बिहार में खाता खुलता है या नहीं।

यह भी पढ़ें: KK Pathak : हेडमास्टरों को हर दिन करना होगा यह भी काम, केके पाठक के नए ऑर्डर से सरकारी स्कूलों में बढ़ी हलचल!

Tejashwi Yadav ने लोकसभा चुनाव के बीच बनाया नया रिकॉर्ड, PM Modi और Nitish Kumar से थी टक्कर!