पश्चिमी चंपारण [जेएनएन]। स्‍टेशन पर माल उतारने व रैक प्‍वाइंट पर कब्‍जा को ले जमकर बवाल हुआ। इस दौरान पत्थरबाजी में तीन लोग घायल हो गए। दोनों तरफ से फरयरिंग भी हुई। स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। घटना शुक्रवार को पश्चिम चंपारण के चनपटिया स्थित कुमारबाग स्‍टेशन पर हुई। स्थिति तनावपूर्ण, लेकिन नियंत्रण में है। वहां पांच थानों की पुलिस कैंप कर रही है।

कुमारबाग रेलवे स्टेशन के रैक प्वाइंट पर दो गुट वर्चस्‍व स्‍थापित करना चाहते हैं। शुक्रवार को माल उतारने को लेकर यहां वे दोनों गुट भिड़ गए। दोनों ओर से जमकर पत्थरबाजी हुई, जिसमें बानुछापर के चंद्रकिशोर झा सहित तीन लोग घायल हो गए हैं।  उनका इलाज स्‍थानीय अस्पताल में चल रहा है। विवाद इतना बढ़ा कि दोनों तरफ से बंदूकें निकाल ली गईं। फिर जमकर गोलीबारी भी हुई। हालांकि, गोलीबारी में कोई घायल नहीं हुआ।

सूचना मिलने पर सदर एसडीएम विद्यानाथ पासवान व एसडीपीओ पंकज कुमार रावत के नेतृत्‍व में दर्जनभर थानों की पुलिस पहुंची। दोनों गुट के लोग पुलिस के पहुंचने के बाद भी पत्थरबाजी करते रहे। आखिरकार पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। तब जाकर लोग भागे और मामला शांत हुआ।

क्‍या है मामला, जानिए

बताया जाता है कि कुमारबाग रैक प्वाइंट पर दूसरी बार पाकुड़ से 56 बोगी गिट्टी शुक्रवार की सुबह करीब 6:00 बजे पहुंची। बेतिया के कुछ मजदूर माल उतारने के लिए कुमारबाग आए। इसी दौरान पूर्व मुखिया प्रमोद सिंह के नेतृत्व में आसपास के लोग पहुंच गए और माल उतारने का विरोध करने लगे। कुमारबाग के मजदूर माल उतारना चाहते थे। जबकि, बेतिया से आए मजदूर इसका विरोध कर रहे थे। इसी को लेकर दोनों ओर से पहले पत्थबाजी आरंभ हुई, बाद में फायरिंग हुई।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि भीड़ को हटाने के लिए कुमारबाग ओपी की पुलिस भी गोली चलाई। जबकि, ओपी प्रभारी राजीव कुमार रजक ने पुलिस फायरिंग से इनकार किया है।

माल उतारने को लेकर दो गुटों में विवाद

घटना के संबंध में ओपीप्रभारी राजीव कुमार रजक ने बताया कि जिस व्यक्ति ने रैक मंगाया है, उसने माल उतारने का ठेका संजय कुमार मिश्र को दिया है। इसके पूर्व में आए रैक का ठेका पूर्व मुखिया प्रमोद सिंह को मिला था। बोगी से माल उतारने को लेकर दो गुटों में विवाद है। दोनों गुट यहां वर्चस्व स्थापित करना चाहते हैं।

घटना के सिलसिले में पूर्व मुखिया गिरफ्तार

एसडीपीओ पंकज कुमार रावत ने बताया कि घटना के सिलसिले में स्थानीय पूर्व मुखिया प्रमोद सिंह को गिरफ्तार किया गया है। दो अन्य को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

20 सितंबर को भी हुआ था बवाल

विदित हो कि यहां माल उतारने को ले पहले भी मारपीट हो चुकी है। बेतिया से कुमारबाग रैक प्वाइंट स्थानांतरित होने के बाद गत 20 सितंबर को कुमारबाग में पहली बार रैक आया था। उस समय भी माल उतारने को लेकर जमकर बवाल हुआ था।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप