समस्तीपुर, जासं। शादी में मातम। बात हजम नहीं होती। समस्तीपुर जिले के वारिसनगर प्रखंड के धनहर गांव में कुछ ऐसा ही हुआ। सबकुछ ठीक ही चल रहा था। जब बरात आने में कुछ ही घंटे शेष रह गए थे तो हलवाई के पास से एक चिंगारी उठी और उसने पहले शादी के मंडप को जलाया आैर फिर पूरे घर को ही राख के ढेर में बदल दिया। बाद में ग्रामीणों के सहयोग से शादी तो हुई लेकिन, दंपती के नवजीवन की इस शुरुआत को दोनों शायद पूरी जिंदगी न भूल पाएं।

वारिसनगर प्रखंड के धनहर गांव स्थित वार्ड संख्या सात में शुक्रवार की रात्रि स्व. रमेश राय की पुत्री की शादी थी। सबकुछ योजना के अनुसार ही चल रहा था। परिवार में हंसी खुशी का माहौल था। शाम ढलते ही सभी ने बरात के स्वागत को अंतिम रूप देने की तैयारी शुरू कर दी थी। हलवाई पकवान तैयार कर रहा था। इसी बीच यहां एक चिंगारी हवा के सहारे शादी के लिए तैयार मंडप तक पहुंच गई। देखते ही देखते मंडप धू धूकर जलने लगा। कुछ ही क्षण में इस आग ने पास के घर को भी अपनी चपेट में ले लिया। शादी के लिए रखा सामान भी चल गया। नकद 40 हजार रुपये भी राख की ढेर में मिल गए। वहीं आग बुझाने के क्रम में स्व: रमेश राय का दामाद मथुरापुर ओपी क्षेत्र के बेगमपुर गांव निवासी शिवशंकर राय का पुत्र चन्दन कुमार (35 वर्ष) झुलस कर जख्मी हो गए। अगलगी की इस घटना में 5 से 6 लाख रुपए की क्षति बताई जा रही है। जब तक ग्रामीण इस पर काबू पाते तब तक इस आग की लपटों ने बगल के वीरेन्द्र राय और रामाकांत राय के घर को भी अपने आगोश में लेकर राख कर दिया।

यह भी पढ़ें : Darbhanga Flight Service News: होली 2021 से पहले यात्र‍ियों को नई उड़ान का ग‍िफ्ट

 

इधर, मौके की नजाकत को देखते हुए ग्रामीणों ने आनन-फानन में वैकल्पिक व्यवस्था शुरू की। जिला पार्षद सुधा कुमारी के पति सह समाजसेवी अमित कुमार राय ने रात्रि में बारात के भोजन का इंतजाम करवाया और तत्काल शादी का दूसरा मंडप तैयार कर शादी संपन्न करवाया। सीओ कमल कुमार ने बताया कि पीडि़त परिवार को सरकार की ओर से मिलने वाली हरसंभव सहायता दी जाएगी।  

यह भी पढ़ें: Bihar Bus Fair Hike: मुजफ्फरपुर से पटना का बस किराया हो सकता 135 रुपये, अन्य जगहों के बारे में जानें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप