दरभंगा, जेएनएन। जिले के विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के आजमनगर मोहल्ला स्थित मो. नजीर नदाफ के घर शुक्रवार दोपहर सवा दो बजे बम विस्फोट हुआ। इससे इलाका दहल उठा। करीब तीन किमी के दायरे में धमाके की आवाज सुनी गई। घटना के बाद अफरातफरी मच गई। लोग घरों से बाहर निकलकर भागने लगे। घटना में नजीर के तीन बच्चे गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उसका मकान पूरी तरह ध्वस्त हो गया। आसपास के कई घरों को भी क्षति पहुंची। लोगों की मदद से नजीर के तीनों बच्चों को मलबा में से निकालकर डीएमसीएच भेजा गया। घटना के बाद नजीर और उसकी पत्नी अफशाना खातून फरार हो गए।  लेकिन, पुलिस ने दो घंटे बाद दबोच लिया। जख्मी बच्चों में नजीर का पुत्र शमशाद (11), साहिल (6) और पुत्री नजराना (11) शामिल हैं। इसमें शमशाद की स्थिति नाजुक है।

बम बनाने के दौरान विस्फोट 

स्थानीय लोगों के मुताबिक, नजीर घर में बम बना रहा था। इसी दौरान विस्फोट हुआ। इससे आस-पास के चार घर गिर पड़े। एक दर्जन लोगों के मकान क्षतिग्रस्त हो गए। पास के दो बड़े पेड़ भी गिर पड़े। नजीर के घर से कई बक्से सहित ढेर सारे सामान उड़कर दूसरे लोगों के घर पर जाकर गिरे। घटना के बाद लोग आक्रोशित हो गए। आसपास में सुतली लपेटे कई बम मिले। केन बम में इस्तेमाल होने वाले दो प्लेट भी मिले। इसके अंदर से बारूद की गंध वाला धुआं निकल रहा था। 

मामले की जांच में जुटी पुलिस 

डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने मामले की जांच कराने के लिए एडीएम के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम गठित की है। इसमें सदर एसडीओ और सदर एसडीपीओ शामिल हैं। सूचना पर नगर एसपी योगेंद्र कुमार, सदर एसडीपीओ अनोज कुमार, अंचल इंस्पेक्टर सुबोध प्रसाद सहित कई थाने की पुलिस घटनास्थल पहुंची। नगर एसपी ने बताया कि गृहस्वामी  समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कहा कि नजीर बिना लाइसेंस के दीपावली और छठ में पटाखा बेचता था। उसके घर से पटाखा बनाने के कई सामान मिले।

Edited By: Murari Kumar