गौनाहा (पश्चिम चंपारण) जासं। फिल्म अभिनेता मनोज बाजपेयी ने बिहार के युवाओं को कला के क्षेत्र में प्रोत्साहित करने के लिए पहल की है। उन्होंने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और कला संस्कृति मंत्री से मिलकर बिहार में नाट्य विद्यालय खोलने की मांग की है , ताकि राज्य के उभरते कलाकारों को प्रशिक्षण दिया जा सके । वे इस क्षेत्र में आगे बढ़ सकें।

कला के क्षेत्र में चंपारण की भूमि उर्वर रही
भितिहरवा स्थित जीवन कौशल ट्रस्ट की ओर से शुक्रवार को आयोजित सम्मान समारोह में पहुंचे मनोज बाजपेयी ने बताया कि चंपारण उनकी जन्मभूमि है। बिहार सरकार की ओर से बेतिया में नाट्य स्कूल खोला जाए तो बेहतर होगा । कला के क्षेत्र में चंपारण की भूमि उर्वर रही है । उन्होंने बिहार में फिल्म नीति भी बनाने की बात कही । उन्होंने अन्य प्रांतों की तरह बिहार में भी फिल्म विकास और प्रोत्साहन नीति बनाने की मांग की है।

महिला सशक्तीकरण को लेकर चंपारण में काम करने की जरूरत

फिल्म अभिनेता ने कहा कि युवाओं और महिला सशक्तीकरण को लेकर चंपारण में बहुत काम करने की जरूरत हैं। हालांकि अलग-अलग संगठनों की ओर से इस दिशा में प्रयास भी हो रहे हैं , लेकिन इसको और गति देने की जरूरत है। कहा कि चंपारण मेरी जन्मभूमि है । मैं अपनी जन्मभूमि की सेवा कर रहा हूं । इसे राजनीति से नहीं जोड़ें। इससे पहले कार्यक्रम के दौरान मौजूद कार्निवल ग्रुप आफ कंपनीज के डायरेक्टर रामानंद सिसोदिया तथा कार्निवाल नूर की डायरेक्टर सुनैना सिसोदिया ने संयुक्त रूप से मनोज बाजपेयी को बुके तथा अंगवस्त्र देकर स्वागत किया । मौके पर रामानंद सिसोदिया ने 2.51 लाख का चेक जीवन कौशल ट्रस्ट को सामाजिक कार्यों में खर्च करने के लिए दिया । इस दौरान ट्रस्ट के शैलेंद्र प्रताप सिंह और सचिव ज्ञानदेव मणि त्रिपाठी , विधान परिषद सदस्य सौरभ कुमार, रामानंद सिसोदिया आदि मौजूद रहे ।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh