गायघाट (मुजफ्फरपुर), जासं। गायघाट गांव की एक महिला व उसके पुत्र-पुत्री की बेरहमी से हत्या कर दी गई।पहचान नहीं हो इसके लिए चेहरे पर तेजाब भी डाल दिया। इसके बाद शवों को कटरा मोड़ तुर्कटोलिया के निकट बागमती नदी के किनारे पानी से भरे गड्ढे में फेंक दिया गया। शुक्रवार को तीनों का शव मिलने के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। शव मिलने के कुछ देर बात तीनों की पहचान गायघाट निवासी दीपक साह की पत्नी नीतू कुमारी (28), पुत्र सुजीत कुमार (छह) और पुत्री गंगा कुमारी (चार) के रूप में हुई है। नीतू और गंगा के शव एक साथ रस्सी से बंधे हुए थे। तीनों के शव सड़े-गले हालत में थे। इससे आशंका व्यक्त की जा रही कि तीनों की हत्या कई दिन पहले हुई है। पुलिस मौके मामले की छानबीन में जुट गई है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए श्री कृष्ण चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल (एसकेएमसीएच) भेजा गया है। गायघाट के अपर थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि प्राथमिकी का आवेदन नहीं मिला है। नीतू की मां और भाई के बयान के आधार पर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। महिला के ससुराल वाले फरार हो गए हैं।

20 सितंबर से बच्चों के साथ घर गायब थी नीतू 

नीतू मीनापुर थाना क्षेत्र के दाउद छपरा निवासी देवकी साह की पुत्री थी। उसकी शादी 28 अप्रैल 2012 को गायघाट के दीपक कुमार के साथ हुई थी। दीपक जुगाड़ गाड़ी चलाता है। मायके से पहुंचे नीतू के भाई राकेश कुमार ने बताया कि बीते 20 सितंबर को उसके जीजा ने फोन पर बताया कि नीतू व उसके दोनों बच्चे घर से गायब हैं। इसके बाद सभी खोजबीन में जुट गए। शुक्रवार की सुबह फोन से जानकारी मिली कि उसकी बहन, भांजा व भांजी के शव कटरा मोड़ के समीप तुर्कटोलिया गांव में बागमती नदी के किनारे पानी से भरे गड्ढे में पड़े हुए हैं। वहां पहुंचा तो बहन व भांजी के शव एक साथ रस्सी से बंधा हुए पाया। भांजे का शव उसी गड्ढे में कुछ दूरी पर पानी में उपला रहा था। तीनों के चेहरे पर तेजाब डाला गया था। राकेश का आरोप है कि नीतू के पति, ससुर व सास समेत ससुराल के लोगों ने इन तीनों की हत्या कर शवों को फेंक दिया है।

मृतका की मां पवन देवी ने बताया कि नीतू के पति दीपक साह, सास जगतारण देवी, ससुर हरिश्चंद्र साह पिछले तीन महीने से व्यवासाय करने के लिए दो लाख रुपये की मांग कर रहे थे। इसी बात को लेकर उसके साथ मारपीट भी की जा रही थी। उधर, नीतू के ससुर ने घटनास्थल पर बताया कि चार-पांच रोज पूर्व पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। तब से बच्चों समेत नीतू घर छोड़कर गायब थी। मायके के लोगों के वहां पहुंचने से पहले ही ससुर घटनास्थल से फरार हो गया।

घास काटने वाली महिला ने देखा शव 

पानी से भरे गड्ढे में फेंके गए तीनों शव को वहां घास काटने गई महिला ने देखा।उसके शोर मचाने पर गांव के लोग जुट गए। ग्रामीणों ने ही पहले शव की पहचान की। इसके बाद महिला के मायके वालों और पुलिस को इसकी जानकारी दी गई।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh