Move to Jagran APP

Bihar Politics: बिहार के लिए क्या करेंगे सभी 8 केंद्रीय मंत्री? गिरिराज सिंह ने क्लीयर कर दी पूरी बात

Bihar News केंद्रीय कपड़ा मंत्री बनने के बाद पहली बार मुजफ्फरपुर पहुंचे बेगूसराय के नवनिर्वाचित सांसद गिरिराज सिंह ने कहा कि बिहार से मंत्री बनाए गए सभी आठ सांसद राज्य के बेहतर विकास के लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य और केंद्र सरकार कदम से कदम मिलाकर विकसित राष्ट्र बनाएंगे। यह बिहार के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।

By Prem Shankar Mishra Edited By: Mohit Tripathi Sun, 16 Jun 2024 09:07 AM (IST)
राज्य के विकास के लिए काम करेंगे बिहार से चुने गए केंद्रीय मंत्री: गिरिराज सिंह। (फाइल फोटो)

जागरण संवाददाता, मुजफ्फरपुर। केंद्रीय कपड़ा मंत्री बनने के बाद शनिवार को पहली बार मुजफ्फरपुर पहुंचे गिरिराज सिंह ने औद्योगिक क्षेत्र का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के आठ सांसदों को हर सेक्टर का मंत्री बनाया। यह बिहार के विकास में मील का पत्थर साबित होगा।

उन्होंने कहा, राज्य और केंद्र सरकार कदम से कदम मिलाकर विकसित राष्ट्र बनाएंगे। सभी आठों मंत्री अपने-अपने विभाग का रोडमैप बनाएंगे और उसपर काम शुरू होगा तो दुनिया की कोई भी ताकत रोक नहीं पाएगी।

खरगे का अध्यक्ष पद जा रहा, पहले वह बचाएं

कपड़ा मंत्री सबसे पहले लेदर क्लस्टर गए। वहां बन रहे बैग को देखा। बैग कंपनी के तुषार जैन भी मौजूद थे। बैग उद्योग के दो वर्ष होने पर केक काटा। वहां से टेक्सटाइल क्लस्टर गए।  कंपनी के विश्वनाथ घोष से बन रहे फैब्रिक के बारे में जानकारी ली। डिजाइन आदि को लेकर भी बात की।

उन्होंने कहा कि देश में डिजाइनर की कमी नहीं है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के एनडीए सरकार के नहीं चलने और जल्द गिर जाने वाले बयान पर उन्होंने कहा कि अभी तो उनका ही अध्यक्ष पद जा रहा है। पहले अपना देखें फिर एनडीए के बारे में सोचें।

मौके पर उद्योग मंत्री नीतीश मिश्रा, विभाग के अपर मुख्य सचिव संदीप पौंड्रिक, खाद्य प्रसंस्करण एवं उद्योग विभाग के निदेशक विवेक रंजन मैत्रेय, डीएम सुब्रत कुमार सेन, जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक समेत बियाडा के कई अधिकारी मौजूद थे।

हटाए गए उद्यमियों ने किया हंगामा

टेक्सटाइल क्लस्टर से हटाए गए 234 उद्यमियों को केंद्रीय मंत्री से प्रशासन के आला अफसरों ने मिलने से रोक दिया। इस पर उद्यमियों ने हंगामा किया। कहा, फैक्ट्री लगी नहीं कि देरी का बहाना बनाकर मारपीट कर भगा दिया। इस दौरान काफी देर तक मंत्री को निकाले गए उद्यमियों का विरोध भी झेलना पड़ा। हालांकि मंत्री ने इस संबंध में कोई बात नहीं की।

एक उद्यमी ने बताया कि एक निजी कंपनी को बसाने के लिए छोटे-छोटे उद्यमियों को उजाड़ दिया। इस राज्य में कोई कैसे छोटे उद्यमी आगे बढ़ेगा। बसाने से पहले ही मारपीट कर भगा दिया गया।

मुजफ्फरपुर की वंदना कुमारी ने बताया कि वूमेन फैक्ट्री लगाई थी। मारपीट कर भगा दिया और सारा सामान जब्त कर लिया।

एक महिला उद्यमी ने कहा कि छोटा बच्चा गोद में ली थी, फिर भी बेरहमी से पुलिस ने मारा। उन्होंने मीडिया के साथ प्रशासन को भी जख्म दिखाया।

निकाले गए सिवान के एक उद्यमी ने कहा कि बिजली कनेक्शन दिलवाया नहीं। काफी मशक्कत के बाद जब बिजली कनेक्शन लिया। इसमें देरी का बहाना बनाकर हटा दिया।

लेदर क्लस्टर से टेक्सटाइल क्लस्टर तक पुलिस छावनी

केंद्रीय मंत्री के आगमन और निकाले गए उद्यमियों के विरोध के डर से पूरा लेदर क्लस्टर पुलिस छावनी में तब्दील किया गया था। कमांडों से लेकर बाउंसर तक उतार दिए गए थे। मौके पर टाउन एएसपी भानू प्रताप सिंह, एसडीओ पूर्वी अमित कुमार, बेला थाना प्रभारी मुख्य भूमिका में रही।

निकाले गए एक उद्यमी ने कहा कि पटना में उद्योग मंत्री से मिलने गए तो शनिवार को आने की बात कही। कहे कि वहीं रहिएगा। आज आए तो हमलोगों से मिले भी नहीं। जिस निजी कंपनी के इशारे में हटाया, उन लोगों से ही मिलकर चले गए। हमलोगों का हाल तक नहीं जाना। कहा, युवाओं को झूठा आश्वासन देती है सरकार।

यह भी पढ़े: Bihar News: भारी बारिश-भूस्खलन से गंगटोक में फंसे भारतीय पर्यटक, सेना ने शुरू किया बचाव अभियान

Bihar Weather Today: आ गई बिहार में मानसून की फाइनल डेट, इस तारीख से बारिश के आसार; मौसम विभाग का अलर्ट जारी