पूर्वी चंपारण, जेएनएन। बापूधाम मोतिहारी स्टेशन स्वच्छता रैकिंग के मामले में देश में 23वें स्थान पर आ गया है। जबकि, सालभर पहले यह पूरे देश में 264वीं रैंक पर था। चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में इसका तेजी से विकास हुआ। स्वच्छता के लिहाज से भी काफी विकसित हुआ है। देशभर के 600 स्टेशनों में 30 विकसित स्टेशनों की लिस्ट में शामिल होने के बाद बापूधाम मोतिहारी स्टेशन ने नौवां स्थान प्राप्त किया। यह घोषणा गांधी जयंती पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दिल्ली में अयोजित एक कार्यक्रम के दौरान की।

     बापूधाम मोतिहारी स्टेशन को विकसित स्टेशनों की श्रेणी में उतारने का श्रेय पूर्व केंद्रीय कृषि व किसान कल्याण मंत्री और स्थानीय सांसद राधामोहन सिंह को जाता है। उनके ही प्रयास से सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में बापूधाम मोतिहारी स्टेशन को नया लुक दिया गया है। जबकि, बापू की 150वीं जयंती वर्ष में सभी कार्यों को उत्कृष्ट तरीके से अंतिम रूप देने की कवायद जारी है। कुछ अन्य कार्यों को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है।

स्टेशन के बाहरी और भीतरी परिसर में 10 अप्रैल 1917 से लेकर तमाम ऐतिहासिक घटनाओं से जुड़ी तस्वीरें लगाई गईं हैं। इसमें किसानों की दुर्दशा, गांधी द्वारा कराए गए विभिन्न कार्यक्रमों को स्मृति चिह्न व चित्रों के माध्यम से उकेरा गया है। गांधी के सपनों का स्टेशन पर बापू के साथ बा की प्रतिमा सजधज कर लगी हैं। गौरतलब है कि सौ साल पहले चंपारण आगमन के दौरान महात्मा गांधी इसी स्टेशन पर उतरे थे। इसलिए मोतिहारी स्टेशन का नाम बापूधाम मोतिहारी किया गया।

     स्टेशन के बाहरी परिसर में ट्रेन से महात्मा गांधी का मोतिहारी स्टेशन पर आगमन का एक लाइव मॉडल बनाया गया है। जबकि गांधी और कस्तूरबा गांधी की प्रतिमा का इनसिगिया के रूप में स्थापित किया गया है। यात्रियों की सुविधा के लिए वाइ-फाइ सुविधा के साथ-साथ प्लेटफार्म नंबर एक पर प्रवेश और निकास द्वार का निर्माण कराया गया है।

   बाहरी परिसर को भी री-डिजाइन कर नया लुक दिया गया है। स्टेशन पर प्रवेश के लिए दो प्रमुख द्वार बनाए गए हैं। नई इलेक्ट्रिक हाईमास्ट लगाकर रात्रि में पूर्ण प्रकाश की व्यवस्था की गई है। थ्री-डी एलइडी स्टेशन नेम प्लेट बोर्ड तीन भाषाओं में लगाए गए हैं। इसके अतिरिक्त प्लेटफार्म पर कोच इंडिकेटर बोर्ड, ट्रेन इंडिकेशन बोर्ड तथा वीडियो वाल लगाई गई है।

   महिला प्रतीक्षालय में सेनेटरी पैड वेंडिंग मशीन भी लगाई गई है। बापूधाम स्टेशन को नया लुक देने में बापूधाम मोतिहारी के सहायक मंडल अभियंता अर्जुन सिंह और उनकी टीम का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। स्टेशन के बदलाव की डिजाइनिंग एवं ग्राफिंग उनके द्वारा की गई है। निर्माण के दौरान उन्होंने कार्य की गुणवता पर कोई समझौता नहीं किया गया है। स्टेशन के स्वच्छता कि दिशा में स्टेशन अधीक्षक राकेश कुमार त्रिपाठी और चीफ स्वास्थ्य निरीक्षक आनंद कुमार अहम योगदान है। अब बापूधाम स्टेशन देश के सभी स्टेशनों में सबसे अनोखा हो गया है।  

Posted By: Ajit Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप