लखीसराय। गुरुवार को जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह ने अपने कार्यालय कक्ष में मनरेगा योजना की प्रगति की समीक्षा की। बैठक में डीडीसी अनिल कुमार के अलावे सभी प्रखंडों के मनरेगा पीओ भी मौजूद थे। मनरेगा योजना से पशु शेड निर्माण की समीक्षा में डीएम और डीडीसी ने सभी पीओ को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि जिले में कहीं भी पशु शेड के नाम पर राशि की निकासी कर ली गई और कार्य नहीं होने का मामला सामने आएगा तो सीधे पीओ पर कार्रवाई की जाएगी। योजना की समीक्षा में डीएम ने पाया कि जिले की महेशपुर, सलेमपुर पूर्वी, सलेमपुर पश्चिमी, साबिकपुर, बालगुदार, किरणपुर, खगौर, गढ़ी विशनपुर और कबादपुर पंचायत में मानव दिवस श्रृजन की प्रगति काफी निराशाजनक है। इस पर डीएम ने नाराजगी जताते हुए इन पंचायतों में संबंधित मुखिया से समन्वय बनाकर प्रत्येक दिन 200 मानव दिवस का संयोजन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। साथ ही निर्देशित किया कि पंचायतों में योजना के तहत नए तालाब की खोदाई, कुआं का जीर्णोद्धार एवं निर्माण तथा पौधारोपण पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। डीडीसी ने सभी पीओ को मनरेगा के तहत कराए जा रहे पौधारोपण की रखवाली के लिए शर्तों के साथ वनपोषक बहाल करने को कहा। समीक्षा में बताया गया कि लखीसराय प्रखंड की साबिकपुर पंचायत में मुखिया कार्य कराने में रुचि नहीं ले रहे रहे हैं। सैदपुरा, अमरपुर, टोरलपुर, भनपुरा पंचायत में 21 अप्रैल तक योजना पूर्ण करने का निर्देश दिया है। डीएम ने सभी पीओ को मत्स्य और गव्य विकास पदाधिकारी से समन्वय बनाकर बैठक कर तालाब निर्माण की योजना तैयार करने का निर्देश दिया। डीडीसी ने सभी पीओ को योजना स्थल पर कोरोना गाइड लाइन का पालन कराने का निर्देश देते हुए मास्क, सैनिटाइजर की व्यवस्था करने को कहा। बैठक में जिओ टैग की प्रगति, फोकस एरिया, मजदूरों का भुगतान, योजना की स्थिति, वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण आदि की प्रगति की भी समीक्षा की गई।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021