Move to Jagran APP

बालू लदा ट्रक गंगटा जंगल में दुर्घटनाग्रस्त, तीन घंटे रहा जाम

संवाद सूत्र लक्ष्मीपुर (जमुई) एनएच 333 स्थित गंगटा जंगल के भमरवा पुल के पास बालू लदे ट्रक के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से जाम की स्थिति बन गई। लगभग तीन घंटे तक इस मार्ग पर वाहनों का आवागमन बाधित रहा।

By JagranEdited By: Published: Tue, 15 Feb 2022 05:53 PM (IST)Updated: Tue, 15 Feb 2022 05:53 PM (IST)
बालू लदा ट्रक गंगटा जंगल में दुर्घटनाग्रस्त, तीन घंटे रहा जाम

फोटो- 15 जमुई- 11,12

- जाम में फंसकर परेशान रहे दो पहिया व चार पहिया वाहन सवार

- पुलिस ने क्रेन से दुर्घटनाग्रस्त ट्रक को उठाकर जाम हटाया

- एनएच प्रशासन समस्या पर नहीं दे रहा ध्यान

संवाद सूत्र, लक्ष्मीपुर (जमुई): एनएच 333 स्थित गंगटा जंगल के भमरवा पुल के पास बालू लदे ट्रक के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से जाम की स्थिति बन गई। लगभग तीन घंटे तक इस मार्ग पर वाहनों का आवागमन बाधित रहा। आवागमन बाधित होने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। इस दौरान दो पहिया वाहनों के भी आवागमन में मुश्किल हो रहा था।

जाम की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष सुबोध कुमार के नेतृत्व में पुलिस जवान जाम स्थल पर पहुंचे और बड़ी मशक्कत के बाद दुर्घटनाग्रस्त ट्रक को क्रेन से उठाकर जाम हटाया और आवागमन चालू कराया। एनएच 333 पर आए दिन लगातार जाम की समस्या से लोग परेशान हैं। जाम लगने के पीछे का मुख्य कारण एक तो जमुई सीमा के अंत के बाद एनएच का सिगल होना और अंधाधुंध बालू लदे ट्रकों के परिचालन के साथ जिओ का केवल ले जाने के लिए सकरा मार्ग के समीप ही गड्ढा खोदना बना है। सड़क किनारे दल-दल हो जाने के कारण अधिकांश वाहन इसमें फंस रहे हैं और जाम लगने की समस्या उत्पन्न हो रही है। भारी वाहनों का आवागमन इतना ज्यादा है फिर भी एनएच के अधिकारी इस समस्या को देख अनजान बने हैं। जिससे स्थानीय लोगों में आक्रोश पैदा हो रहा है। स्थानीय लोगों ने बताया कि जब भी कोई जरूरी काम से इस मार्ग होकर जाना होता है तो गंतव्य पर जल्दी पहुंचने के चक्कर में काफी समय लगता है। जिससे जरूरी काम नहीं हो पा रहा है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.