संवाद सहयोगी, नवादा। छठ पूजा के दौरान नवादा के एक युवक को गया में बंधक बनाकर जबरन शादी कराने का मामला प्रकाश में आया है। युवक के साथ मारपीट भी की गई। पीड़ित युवक ने मंगलवार को नवादा नगर थाना पहुंच कर आपबीती सुनाई और लिखित शिकायत दर्ज कराई। पीड़ित युवक गुड्डू कुमार नगर थाना क्षेत्र के मोहिउद्दीनपुर गांव निवासी उमाकांत प्रसाद का पुत्र है। शादी गया के जिले के वजीरगंज थाना क्षेत्र के सरबहना गांव में शंभु प्रसाद की पुत्री रानी कुमारी के साथ कराई गई। एक सप्ताह तक युवक को कमरे में बंद रख कर उसे काफी प्रताड़ित किया गया। परीक्षा देने का बहाना बनाकर युवक वहां से भाग कर अपने गांव आया।

छठ पूजा के लिए फल पहुंचाने गया सरबहना

युवक ने बताया कि वह गुजरात के वापी स्थित एक प्राइवेट कंपनी में काम करता है। दीवाली में वह दिल्ली अपने रिश्तेदार (मौसा) के पास गया था। दिल्ली में उसके मौसा फल बेचने का काम करते हैं। पास में ही लड़की का बहनोई भी फल बेचता है। वहीं पर उससे संबंध हुआ। नवादा आने के क्रम में लड़की के बहनोई ने छठ पूजा के लिए सरबहना में फल पहुंचाने का अनुरोध किया। जिसपर वह दिल्ली से फल लेकर नवादा आया। छठ पूजा की वजह से वह वहीं ठहर गया।

अस्ताचलगामी अर्घ्यदान के दिन करवाई गई शादी

युवक ने बताया कि 10 नवंबर को अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्यदान के बाद रात में वह लड़की के भाई के साथ कमरे में सोया हुआ था। देर रात तकरीबन दो बजे दस की संख्या में गमछे से चेहरा ढके लोग पहुंचे और उसे उठाया। फिर दूसरे कमरे में ले जाकर लड़की की मांग में जबरन सिंदूर डलवा दिया। इस दौरान उसने काफी विरोध किया। जिसपर उसके साथ मारपीट की गई। सिंदूर डलवाने के दौरान उन लोगों ने वीडियो भी बनाई और लड़की के साथ रहने का दबाव बनाया।

लड़की को भी उसके घरवालों ने धमकाया

युवक ने बताया कि लड़की को भी उसके घर वालों ने खूब धमकाया। बातचीत करने पर लड़की ने उसे बताया कि परिवार वाले के दबाव पर शादी की है। लड़की पर उसके मां-पिता, मामा समेत अन्य रिश्तेदार शादी का दबाव बना रहे थे। परिवारवालों की जिद के आगे झुककर लड़की शादी को तैयार हुई।

Edited By: Prashant Kumar