Move to Jagran APP

Bihar News : पूर्वी चंपारण में राम-जानकी मंदिर से 200 साल पुरानी लक्ष्मण की मूर्ति चोरी, लोगों का फूटा गुस्सा

पूर्वी चंपारण में राम-जानकी मंदिर से लक्ष्मण की मूर्ति चोरी होने का मामला सुर्खियों में आया है। यह मूर्ति करीब दो सौ साल पुरानी थी। सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके का जायजा लिया। पुलिस निरीक्षक सह थानाध्यक्ष कैलाश कुमार ने बताया कि पुजारी ने आवेदन दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। घटना से लोगों में आक्रोश है।

By Jagran News Edited By: Mukul Kumar Tue, 28 May 2024 08:21 AM (IST)
प्रस्तुति के लिए इस्तेमाल की गई तस्वीर

संवाद सहयोगी, पताही (पू. चंपारण)। परसौनी कपूर पंचायत के वार्ड संख्या एक स्थित राम-जानकी मंदिर से अष्टधातु से बनी भगवान लक्ष्मण की मूर्ति चोरी हो गई। मूर्ति का वजन 10 किलोग्राम बताया गया। मंदिर के पुजारी बालमुकुंद तिवारी ने बताया कि मंदिर में सुबह में लोग पूजा-अर्चना कर घर चले गए।

शाम सात बजे जब मंदिर में आया तो देखा कि पूर्व दिशा का दरवाजा टूटा है। वहीं गर्भगृह में स्थापित राम, सीता एवं लक्ष्मण जी की मूर्तियों में लक्ष्मण जी की मूर्ति गायब थी। यह मूर्ति करीब दो सौ साल पुरानी थी। सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके का जायजा लिया।

पुलिस निरीक्षक सह थानाध्यक्ष कैलाश कुमार ने बताया कि पुजारी ने आवेदन दिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। घटना से लोगों में आक्रोश है।

आधे दर्जन मंदिरों से हो चुकी चोरी

पताही में पिछले दो माह के अंदर आधा दर्जन मंदिरों से चोरों द्वारा भगवान की मूर्तियों की चोरी कर ली गई है। सबसे पहले 13 अप्रैल को बोकानेकला मंदिर से मूर्ति की चोरी हुई।

फिर नौ मई को बख़री नागेश्वर बाबा के रामजानकी मंदिर से, 10 मई को नोनफरवा रामजानकी मंदिर से, 20 मई को जिहुली बड़का मठ से तथा 21 मई को नोनफरवा गांव के लक्ष्मी नारायण प्रसाद के रामजानकी मंदिर से मूर्ति की चोरी कर ली गई।

अब 26 मई को परसौनी कपूर स्थित रामजानकी मंदिर को चोरों ने निशाना बनाया है। चोरी गई सभी मूर्तियां अष्ठधातु की बनी बताई जाती है। दूसरी ओर चोरी गईं एक भी मूर्ति को पुलिस अब तक बरामद नहीं कर सकी है। इस बात से आम लोगों में नाराजगी है।

यह भी पढ़ें-

Patna News : लॉ कॉलेज परिसर में स्नातक की परीक्षा देकर निकले छात्र की पीटकर हत्या, आज बंद रहेगा पटना विश्वविद्यालय

Bihar Jamin Dakhil Kharij: अचानक बढ़ने लगे दाखिल-खारिज के केस, DM ऑफिस में भी जमीन मामलों की भरमार