Move to Jagran APP

BPSC 67th Topper: BPSC में OBC वर्ग में टॉप करने वाले दरभंगा के अभिराम की Success Story, अभ्यर्थियों को दी ये सलाह

BPSC 67th Final Result 2023 बीपीएसी ने 67वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा का परिणाम जारी कर दिया है। परीक्षा में पटना के अमन आनंद ने पूरे राज्य में टॉप किया है। वहीं दरभंगा के अभिराम कुमार ने ओबीसी वर्ग में पहला स्थान जबकि ओवरऑल 38वीं रैंक हासिल की है। अभिराम कुमार का कहना है कि सफलता के लिए की शर्त केवल यह है कि अभ्यर्थी का आत्मविश्वास मजबूत होना चाहिए।

By Mrityunjay BhardwajEdited By: Mohit TripathiSat, 28 Oct 2023 09:49 PM (IST)
BPSC 67th Topper: BPSC में OBC वर्ग में टॉप करने वाले दरभंगा के अभिराम की Success Story, अभ्यर्थियों को दी ये सलाह
बीपीएससी परीक्षा में 38 वीं रैंक लाने वाले अभिराम कुमार को मिठाई खिलाते माता-पिता। (जागरण फोटो)

संवाद सहयोगी, दरभंगा। बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने 67वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा का परिणाम (BPSC 67th Final Result 2023) जारी कर दिया है। परीक्षा में पटना के अमन आनंद (Aman Anand) ने पूरे राज्य में टॉप किया है। वहीं, दरभंगा के अभिराम कुमार (BPSC Toppers Abhiram Kumar) ने भी बीपीएससी की इस परीक्षा में दरभंगा का नाम रोशन किया है।

अभिराम ने ओबीसी वर्ग (OBC Topper Abhiram Kumar) में पहला स्थान वहीं, ओवरऑल 38वीं रैंक हासिल की है। अभिराम की सफलता की कहानी  (Abhiram Kumar Success Story)  इसलिए रोचक है, क्योंकि उन्होंने यह सफलता अपने दम पर हासिल की है।

बदल गया है Exam का पैटर्न

बीपीएससी परीक्षा ( BPSC 67th Final Result 2023) में 38वीं रैंक लानेवाले अभिराम कुमार (Abhiram Kumar) का कहना है कि सफलता के लिए किसी कोचिंग में जाना जरूरी नहीं है। शर्त केवल यह है कि अभ्यर्थी का आत्मविश्वास मजबूत होना चाहिए। कड़ी मेहनत करनी चाहिए।

अभिराम कहते हैं कि बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) की संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा  का पैटर्न बदल गया है। इसलिए नए अभ्यर्थियों को अपनी तैयारी का पैटर्न भी बदलना होगा।

एसडीएम पद के लिए हुआ चयन

ओबीसी वर्ग में पहला स्थान लाने वाले अभिराम का चयन एसडीएम पद पर अंतिम रूप से हुआ है। शनिवार की शाम रिजल्ट घोषित होते ही भैरवपट्टी स्थित राज हाईस्कूल के प्राचार्य मिथिलेश कुमार के यहां खुशियों ने डेरा जमा लिया। हर कोई उनके छोटे बेटे अभिराम कुमार के एसडीएम पद पर चयन होने पर उन्हें और माता प्रभा कुमारी को बधाई देने आ रहा था।

स्थानीय जीसस एंड मेरी अकादमी से दसवीं और फिर राज हाईस्कूल से इंटर करने के बाद अभिराम कुमार तुमकुर (कर्नाटक) के एसआईटी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में बीटेक करने चला गया था। बीटेक के बाद उसने वही प्राइवेट नौकरी प्राप्त कर ली।

बड़े भाई ने किया था प्रेरित

बड़े भाई अभिषेक कुमार ने अभिराम को प्रशासनिक सेवा में जाने के लिए प्रेरित किया।  प्राइवेट नौकरी करते हुए अभिराम ने परीक्षा दी, लेकिन प्रारंभिक परीक्षा में ही असफलता हाथ लगी। इसके बाद अभिराम ने नौकरी छोड़ दी और पूरी लगन और मेहनत के साथ बीपीएससी की तैयारी में जुट गए।

सेल्फ स्टडी और कड़ी मेहनत से पाई सफलता

अभिराम कहते हैं कि बीपीएससी परीक्षा के लिए उन्होंने कभी कोई कोचिंग नहीं ली। खुद की मेहनत के बलपर उन्होंने प्रारंभिक परीक्षा पास की।

हालांकि, मुख्य परीक्षा के लिए उन्होंने मैथिली के विद्वान शिक्षक नारायण झा से मार्गदर्शन प्राप्त किया। अभिराम अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और बड़े भाई को देते हैं।

नए अभ्यर्थियों को अभिराम की सलाह

बीपीएससी की तैयारी करने वाले नए अभ्यर्थियों को अभिराम स्टैंडर्ड किताबें पढ़ने की सलाह देते हैं। वह कहते हैं कि बदले हुए पैटर्न के मुताबिक खुद को ढालने के लिए लुसेंट, समसामयिक घटना और एनसीईआरटी के अलावा, राजेंद्र अहीर के स्पेक्ट्रम और लक्ष्मीकांत जैसी क्वॉलिटी बुक्स जरूर पढ़ें। अभिराम हिंदी और अंग्रेजी के एक-एक समाचार पत्र प्रतिदिन पढ़ने पर भी खास जोर देते हैं।

यह भी पढ़ें: BPSC 67th Final Result 2023: 67वीं संयुक्त परीक्षा का परिणाम जारी, टॉप-10 में 6 लड़कियां; प्रथम आए अमन आनंद

BPSC Success Story: रश्मि सेल्फ स्टडी कर पहले प्रयास में बनीं ग्रामीण विकास पदाधिकारी, रंग लाई कोरोना काल की मेहनत

BPSC 67th Final Result 2023: BPSC परीक्षा में किसान के बेटे ने मारी बाजी, इतनी रैंक लाकर SDM पद के लिए हुए चयनित