Move to Jagran APP

Bihar CTET News: केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में पकड़े गए 30 फर्जी परीक्षार्थी, 50 हजार लेकर दे रहे थे एग्जाम

रविवार को केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित की गई और इस परीक्षा दौरान 30 फर्जी परीक्षार्थियों को गिरफ्तार किया गया है। इन फर्जी परीक्षार्थियों को पांच परीक्षा केंद्रों से गिरफ्तार किया है। रविवार को दो पाली में 41 केंद्रों पर केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित की गई थी। जब इन्होंने बायोमेट्रिक में अपना निशान लगाया तो वो मशीन में मैच नहीं हुआ।

By Jagran NewsEdited By: Shoyeb Ahmed Tue, 09 Jul 2024 12:05 AM (IST)
पुलिस की गिरफ्त में आए फर्जी परीक्षार्थी

जागरण टीम, पटना। केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) के दौरान रविवार को राज्य में 30 फर्जी परीक्षार्थी पकड़े गए। दरभंगा जिले में 12, पटना जिले में 10, छपरा में पांच, गोपालगंज में दो और बेगूसराय जिले में एक फर्जी परीक्षार्थी को गिरफ्तार किया गया।

दरभंगा जिले में दो पालियों में 41 केंद्रों पर केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित की गई थी। पकड़े गए 12 फर्जी परीक्षार्थियों में 10 पुरुष व दो महिलाएं हैं। सभी के विरुद्ध लहेरियासराय, बहादुरपुर व सदर थाने में प्राथमिकी की कार्रवाई चल रही है।

प्रथम पाली में इन्हें पकड़ा गया

प्रथम पाली में एमएल एकेडमी से मधुबनी के मधेपुर थाना क्षेत्र के सुंदरपुर शंकरपुर निवासी राम प्रसाद यादव के पुत्र मनोज कुमार को पकड़ा गया। वह दरभंगा सदर थाने के धोई निवासी रामबाबू मंडल के पुत्र श्रवण कुमार मंडल की जगह परीक्षा दे रहा था। केंद्र के गेट से श्रवण को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

वहीं, दूसरी पाली में लहेरियासराय के प्लस टू एमएल एकेडमी स्कूल, जिला स्कूल व भिगो स्थित एंजेल हाईस्कूल से दो-दो, बहादुरपुर थाने के भैरोपट्टी के नोट्रेडम इंटरनेशनल स्कूल व सदर थाने के दरभंगा पब्लिक स्कूल दिल्ली मोड़ से एक-एक को पकड़ा गया।

मशीन में नहीं मिले निशान

परीक्षा के दौरान केंद्राधीक्षक ने जब बायोमीट्रिक मशीन में अंगूठा लगवाया तो इनके निशान नहीं मिले। केंद्राधीक्षकों ने सख्ती से पूछताछ की तो सभी ने फर्जीवाड़े की बात कबूली। फर्जी परीक्षार्थियों ने बताया कि 50 हजार रुपये लेकर दूसरे की जगह पर परीक्षा देने आए थे। इसके बाद इन्हें पुलिस के हवाले कर दिया गया।

बहादुरपुर थाने के भैरोपट्टी के नोट्रेडम इंटरनेशनल स्कूल केंद्र से औरंगाबाद जिले के दाउदनगर निवासी सोमारू प्रजापति के पुत्र मुकेश कुमार को पकड़ा गया। वह पटना के महेंद्रू के सोनू राजभर के बदले परीक्षा दे रहा था। बहादुरपुर थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि केंद्राधीक्षक हेमंत कुमार के आवेदन पर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

वहीं, गोपालगंज जिले के दो परीक्षा केंद्रों श्रीभारती एकेडमी व एसएस पब्लिक स्कूल दिघवा दुबौली से एक-एक फर्जी परीक्षार्थी को बायोमीट्रिक उपस्थिति बनाने वाली एजेंसी ने अंगुली का निशान मिलान नहीं होने पर पकड़ लिाया।

स्वीकार की परीक्षा देने की बात

दोनों ने दूसरे के बदले परीक्षा देने की बात स्वीकार की। केंद्राधीक्षकों ने दोनों को परीक्षा से निष्कासित कर पुलिस को सौंप दिया। डिस्ट्रिक्ट को-आर्डिनेटर सह डीएवी पब्लिक स्कूल थावे के प्राचार्य भरत प्रसाद सिंह ने यह जानकारी दी।

वहीं छपरा में बायोमीट्रिक हाजिरी के दौरान पांच फर्जी परीक्षार्थियों को पकड़ा गया है। प्रथम पाली में (पेपर दो) राजकीय कन्या उच्च विद्यालय में एक, द्वितीय पाली में भागवत विद्यापीठ में दो, आरएनपी पब्लिक स्कूल में एक, सेंट्रल पब्लिक स्कूल में एक फर्जी परीक्षार्थी को पकड़ा गया।

उधर, बेगूसराय जिले में पीएम श्री केंद्रीय विद्यालय, गढ़हरा में दूसरी पाली में एक फर्जी परीक्षार्थी को पुलिस ने गिरफ्तार किया। उसकी पहचान भागलपुर जिला के सुल्तानगंज थानाक्षेत्र के तिलकपुर नवादा निवासी जोगिंदर राम के पुत्र आनंद कुमार के रूप में की गई।

ये भी पढ़ें-

Ara News: आरा में एक साथ 47 बदमाशों को क्यों किया गिरफ्तार? ये बड़ी वजह आई सामने; SP के आदेश के बाद हुआ एक्शन

Bihar Flood News: गंडक का बढ़ा जलस्तर, विभाग के इस चेतावनी ने बढ़ाई आसपास के लोगों की टेंशन