बक्सर, जेएनएन। कोरोना संक्रमण के दौर में लॉकडाउन के कारण बाहर निकलने पर प्रतिबंध है। बिहार व उत्‍तर प्रदेश (यूपी) को जोड़नेवाली सीमा पर भी कड़र पहरा है। सीमा पर ड्यूटी करनेवालों के अलावा कोई भी नजर नहीं आता है। कभी-कभार एकाध खाद्य सामग्री वाले वाहन ही आते जाते रहे हैं। लेकिन, सोमवार की दोपहर अचानक 70-80 की संख्या में मजदूर यूपी की सीमा लांघ बिहार के बक्‍सर पहुंच गए। उनके जिले में प्रवेश करने पर हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस बल पहुंची और सभी को यूपी सीमा में वापस भेज दिया। तब जाकर सीमा पर बने चेकपोस्ट पर तैनात कर्मियों ने राहत की सांस ली।

गौरतलब हो कि, पिछले सप्ताह पड़ोसी यूपी जिले में महज 27 किलोमीटर दूर कोरोना के पांच पॉजिटिव मरीज मिले थे। इसको देखते हुए जिला प्रशासन ने सड़क के अलावा नदी मार्ग को सील करने का आदेश जारी किया। सीमा पर कड़ी चौकसी के साथ दंडाधिकारी के साथ पुलिस बल तैनात की गई।

किसी भी व्यक्ति को यूपी से प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा। केवल एम्बुलेंस और खाद्य सामग्री वाले वाहनों को आने-जाने की छूट है। लेकिन चौसा यादव मोड़ स्थित कर्मनाशा नदी पर बैरियर लगाकर बनाए गए चेकपोस्ट पर 70-80 युवाओं को देख हड़कंप मच गया।

चेकपोस्ट पर मौजूद दंडाधिकारी ने बताया कि ये लोग गाजीपुर जिले में किसी कोल्ड स्टोरेज में काम करते थे। वे सहरसा जिले के रहनेवाले प्रवासी मजदूर हैं, जो गांव जाना चाहते थे। लेकिन यूपी से आनेवाले एक भी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक होने से उन्हें वापस यूपी सीमा में भेज दिया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021