बक्सर : जिला प्रशासन की चुप्पी से प्रतिदिन विभिन्न मार्गो से बिहार के लाल सोने से भरी सैकड़ों ट्रक बेधड़क यूपी पहुंच रहे हैं। ट्रकों के आवागमन से बालू माफिया मालामाल हो रहे हैं। वहीं, जिले के राजस्व को भी चूना लग रहा है। ट्रकों के आवागमन से सड़कों की हालत भी बदरंग हो रही है। जबकि, परिवहन विभाग मौन साधे हुए है। जिले में खनन का कोई अधिकारी नहीं है। जिसके चलते वाहनों की जांच तथा धर-पकड़ नहीं की जा रही है।

बेधड़क ओवरलोड ट्रक चौसा कर्मनाशा पुल व देवल पुल के रास्ते यूपी जा रही है। इस खेल में एग्जिट माफिया से लेकर बालू कारोबारी वाहनों को पास कराने में मालोमाल हो रहे हैं। इस कार्य में बिहार यूपी बार्डर की पुलिस भी म•ा ले रही है। बालू लदे ओवरलोड ट्रक के आवागमन से सड़क तो बदरंग हो ही रही है। वहीं, यूपी को जोड़ने वाले दोनों पुल दिन प्रतिदिन खराब हो रहे है। देवल पुल तो पहले से जर्जर हो चुका है। जो बड़े हादसे को दावत दे रहा है। जबकि कर्मनाशा पुल भी कई जगह ज्वाइंट पर गड्ढा बन गया है। सरिया भी दिखने लगी है। गौरतलब हो कि, बिहार के लाल सोने की कीमत यूपी में कई गुणा ज्यादा है। जिससे बालू माफियाओं को भारी-भरकम बालू लोड ट्रक से अच्छी कमाई हो जाती है। जबकि, प्रशासन का स्पष्ट आदेश है कि बालू अंडरलोड यूपी जा सकती है। परंतु ट्रकों पर अतिरिक्त पटरे लगे ट्रक सड़कों पर नहीं दौड़ सकते। लेकिन, यहां रात-दिन बालू लदे ओवरलोड ट्रक यूपी की ओर दौड़ लगा रहे हैं। जिन पर प्रशासन का कोई जोर नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस