Move to Jagran APP

Vikramshila Express: मालदा मंडल की सबसे कमाऊदार ट्रेन बनी विक्रमशिला, भागलपुर स्टेशन ने भी की मोटी कमाई!

मालदा मंडल के कमर्शियल विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2023-24 में विक्रमशिला एक्सप्रेस की कमाई 54 करोड़ 77 लाख 92 हजार 852 रुपये है। वहीं 20 लाख से अधिक यात्रियों ने इस ट्रेन से सफर किया है। वहीं दूसरे नंबर पर साप्ताहिक ट्रेन भागलपुर लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस है जिसकी कमाई 27 करोड़ 12 लाख के करीब है।

By Abhishek Prakash Edited By: Rajat Mourya Published: Sat, 18 May 2024 07:00 AM (IST)Updated: Sat, 18 May 2024 07:00 AM (IST)
मालदा मंडल की सबसे कमाऊदार ट्रेन बनी विक्रमशिला, भागलपुर स्टेशन ने भी की मोटी कमाई!

अभिषेक प्रकाश, भागलपुर। Vikramshila Express मालदा मंडल की सबसे अधिक कमाई करने वाली ट्रेन का तगमा विक्रमशिला एक्सप्रेस ने हासिल किया है। विक्रमशिला एक्सप्रेस भागलपुर से दिल्ली के बीच चलने वाली नियमित ट्रेन है। यह इस रूट की राजधानी कहलाती है।

मालदा मंडल के कमर्शियल विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2023-24 में विक्रमशिला एक्सप्रेस की कमाई 54 करोड़ 77 लाख 92 हजार 852 रुपये है। वहीं, 20 लाख से अधिक यात्रियों ने इस ट्रेन से सफर किया है। वहीं, दूसरे नंबर पर साप्ताहिक ट्रेन भागलपुर लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस है, जिसकी कमाई 27 करोड़ 12 लाख के करीब है।

भागलपुर स्टेशन ने की मोटी कमाई!

राजस्व के मामले में वित्तीय वर्ष 2023-24 में भागलपुर स्टेशन का बेहतर प्रदर्शन रहा है। इस बार भागलपुर स्टेशन से पूरे साल भर में 52 लाख 3376 यात्रियों ने सफर किया है। जिससे भागलपुर स्टेशन को 40 करोड़ 40 लाख 9582 रुपये की कमाई हुई है।

पूर्व रेलवे की कमाई की बात करें तो पूर्व रेलवे ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में लगभग 3600 करोड़ रुपये राजस्व कमाया है। जो अबतक का सबसे अधिक है। वित्तीय वर्ष 2022-23 की तुलना में कमाई में नौ प्रतिशत की वृद्धि हुई है। लगभग 1,151 मिलियन यात्रियों ने पूर्व रेलवे में विभिन्न जगहों से यात्रा की है। जबकि वित्तीय वर्ष 2024-25 के अप्रैल माह में भीषण गर्मी के कारण स्कूल, कॉलेज जैसे विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में गर्मी छुट्टी होने के बावजूद पूर्व रेलवे ने इस साल अप्रैल में यात्री राजस्व से 1073 करोड़ रुपये की कमाई की है।

47 साल की हो चुकी है विक्रमशिला एक्सप्रेस

रेलवे की अधिकारियों की मानें तो बीते 47 सालों में विक्रमशिला एक्सप्रेस से ढाई करोड़ से अधिक यात्री अब तक सफर कर चुके हैं। यह ट्रेन 47 साल पूरा कर चुका है। विक्रमशिला एक्सप्रेस ट्रेन का उद्घाटन 6 मार्च 1977 को भागलपुर नई दिल्ली के बीच की गई थी, लेकिन 1980 में मगध एक्सप्रेस के शुरू होने के बाद इसे मगध लिंक के नाम से जाने जाना लगा, क्योंकि इसे पटना से फिर दिल्ली के बीच मगध एक्सप्रेस से जोड़कर चलाया जाता था।

बाद में 1998 में आकर इसका नाम बदलकर विक्रमशिला एक्सप्रेस पुनः रख दिया गया। 12 जुलाई 2017 को इसमें एलएचबी कोच लगा। 3 जून 2019 को इस ट्रेन में इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव इंजन लगाया गया। साथ ही साथ इसकी स्पीड भी 18 फरवरी 2020 को 110 किलोमीटर प्रति घंटा से 130 किलोमीटर घंटा तक अपग्रेड कर दिया गया। वर्तमान में विक्रमशिला एक्सप्रेस स्लीपर, थर्ड एसी, सेकंड एसी, फर्स्ट एसी और इकोनामी एसी के साथ हर रोज यात्रियों को अपनी सेवा दे रहा है।

विक्रमशिला एक्सप्रेस मालदा जोन की सबसे अच्छी ट्रेनों में से एक है, इसलिए ज्यादातर लोग दिल्ली जाने के लिए इस ट्रेन का चयन करते हैं। सबसे अधिक कमाई करने का रिकार्ड भी इसी ट्रेन के पास है। आने वाले समय में विक्रमशिला को और अधिक अपग्रेड किया जाएगा। - विकास चौबे, डीआरएम मालदा मंडल

ये भी पढ़ें- Bihar Politics: 'लालू यादव ने मंगरू यादव को भी...', RJD सुप्रीमो पर JDU का 'विस्फोटक' खुलासा!

ये भी पढ़ें- Nitish Kumar: 'बेटा नहीं हो रहा था, इसलिए...'; Lalu Yadav पर नीतीश का पर्सनल अटैक!


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.