जमुई, जेएनएन। संघ लोक सेवा आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा 2018 (UPSC Civil Services Result 2018) की परीक्षा में 53वीं रैंक लाने वाले सुुमित बिहार के जमुई के हैं। जमुई जिले के सिकंदरा निवासी सुमित ने लगातार दूसरी बार में यह सफलता पाई है। यूपीएससी परीक्षा 2017 में उन्होंने 493वीं रैंक हासिल की थी। सुमित की इस कामयाबी से उनके पिता सुशील कुमार वर्णवाल एवं मां मीना देवी और भाई सुजीत सागर सहित सिकंदरा वासी खुशी से झूम उठे हैं। सुमित फिलहाल रक्षा मंत्रालय कैडर ज्वाइन कर ट्रेनिंग प्राप्त कर रहे हैं।   

बचपन से ही मेधावी रहे हैं सुमित   

यूपीएससी की परीक्षा में दूसरी बार सफलता हासिल करने वाले सुमित बचपन से ही पढऩे-लिखने में तेज रहे हैं। मैट्रिक और इंटर की पढ़ाई उसने गुरु गोविंद सिंह पब्लिक स्कूल बोकारो से पूरी की। 2007 में मैट्रिक तथा 2009 में 91.1 अंक हासिल कर 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की थी। 

वायर कंपनी में भी की है नौकरी

उसी वर्ष प्रथम प्रयास में उसने आईआईटी कानपुर से सामान्य वर्ग में 2678वीं रैंक हासिल कर माता-पिता को गौरवान्वित होने का अवसर प्रदान किया। इसके बाद सुमित ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी कर एक वायर कंपनी में योगदान दिया, लेकिन उसके दिलो दिमाग में सिविल सर्विसेज की परीक्षा में सफलता पाने का धुन सवार रहा। 

सीपीएफ की परीक्षा में मिली थी 50वीं रैंक

इसके पहले 2016 में यूपीएससी द्वारा कंडक्ट परीक्षा में उन्होंने सीपीएफ की परीक्षा में 50वीं रैंक हासिल की। पिछले साल वह एसएसबी सहायक कमांडेंट के पद पर योगदान करने जा ही रहा था कि यूपीएससी परीक्षा का परिणाम आया और वह 493वीं रैंक प्राप्त कर रक्षा मंत्रालय में योगदान दिया। साधारण परिवार में पैदा लिया सुमित का भाई सुजीत भी मेधावी है।

Edited By: Rajesh Thakur