जागरण संवाददाता, भागलपुर। मातृ-पितृ पूजन दिवस : जागृत युवा समिति की ओर से 14 फरवरी को आनंदराम ढांढनियां सरस्वती विद्या मंदिर में मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन विद्या भारती के उत्तर पूर्व क्षेत्र सह सचिव गोपेश कुमार घोष, आनंदराम ढांढनियां सरस्‍वती विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य अनंत कुमार सिन्हा, माउंट असीसी स्कूल के शिक्षक मनीष कुमार झा, जागृत युवा समिति के संरक्षक मथूरा प्रसाद दूबे, सीमा सुरक्षा बल असाम के इंस्पेक्टर अजीत पांडेय और आकाशवाणी के वरीय उद्घोषक डॉ. विजय कुमार मिश्र ने किया।

बच्चों ने किया माता-पिता का पूजन

कार्यक्रम में शामिल बच्चों ने अपने माता-पिता का वैदिक मंत्रोच्चार के साथ पूजन किया। इस दौरान बच्चों और उनके माता-पिता के आंखें भर आई। चरण धोए। माता-पिता की आरती की। बच्‍चे जिस समय अपने माता-पिता से पूजन के दौरान गले लगे सभी का हृदय द्रवित हो गया। पूजन के सामूहिक दृश्‍य से सभी आनंदित थे। कार्यक्रम में शहर के कई शिक्षण संस्‍थानों के बच्‍चे अपने माता-पिता के साथ आए थे।

सांस्‍कृतिक कार्यक्रम आयोजित

इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। त्रिलोक प्रियदर्शी, श्वेता सुमन, गौतम ठाकुर, विकास, संदीप, गौरी, राधिका नंदा, ओम प्रकाश शर्मा, शैलेंद्र कुमार तिवारी, धीरज मिश्रा, ममता झा आदि ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया। इस दौरान माता-पिता को समर्पित गीत, भजन आदि प्रस्तुत किया गया। भारत माता की पूजा की गई। साथ ही पुलवामा हमले में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई। कार्यक्रम शहीद रतन ठाकुर को याद किया गया।

दिव्य वेशभूषा में आए थे बच्चे

कार्यक्रम में दो दर्जन से ज्यादा बच्चे विभिन्न परिधान में आए थे। बच्चों ने झांसी की रानी, हनुमान, राधा, राम, सीता, कृष्ण का रूप धरा था। सभी ने मंच पर चढ़कर बेहतरीन प्रस्तुति की। जागृति युवा समिति ने सभी को सम्मानित किया गया।

श्रवण सम्मान से सम्मानित

जागृत युवा समिति ने अभय वर्म्‍मन, कालीचरण, शंकर दायल मिश्र, कन्हैया सहाय, विकास को श्रवण सम्मान से सम्मानित किया।

माता-पिता प्रत्‍यक्ष रूप से ईश्वर के रूप में होते हैं : अनंत

आनंदराम ढांढनियां सरस्‍वती विद्या मंदिर के प्रधानाचार्य अनंत कुमार सिन्हा ने कहा कि आज दिन माता-पिता के समर्पण का दिन है। माता-पिता प्रत्‍यक्ष रूप से ईश्वर के रूप में होते हैं। माता और पिता को बच्चों के साथ समय बीतना चाहिए। उनसे बातें करनी चाहिए। संतान को अपने माता-पिता से प्रतिदिन कुछ देर उसके विचारों को साझा करनी चाहिए। माता-पिता का भी बच्चों के प्रति मित्रवत व्यवहार हो। माता-पिता भी अपने संतान पर विश्‍वास रखें, उनका हौसला बढ़ाए। माता-पिता की सेवा कर हम अपना सिर्फ कर्तव्‍य का निर्वह्न करते हैं। इसलिए कम से कम कर्तव्‍य के पालन में चूक ना करें। हमें अपनी संस्कृति को नहीं भूलनी चाहिए।

 

इनकी रही भूमिका

समारोह में जागृत युवा समिति के संयोजक प्‍यारे हिंद, सरोज वर्मा, अवनीकांत, रोशन, मंगल, नीतीश यादव, अमित कुमार, दिनेश, अभिज्ञान, आशुतोष तोमर, कुंदन साह, सोनू, राजीव राय, श्रवण मंडल, रविशंकर पांडेय, पंकज उपाध्‍याय, जटाशंकर मिश्रा, नीलराज, अमरेंद्र नारायण चौधरी, भीष्‍म मोहन झा, अनिता सिन्‍हा, बबीता वर्मा, माउंट असीसी स्‍कूल के शिक्षक राहूल मिश्रा आदि मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन आकाशवाणी भागलपुर के वरीय उद्घोषक डॉ विजय कुमार मिश्र और दिलीप कुमार शुक्‍ला ने किया।

इस अवसर पर जागृत युवा समिति के संरक्षक प्रो डॉ मथूरा प्रसाद दूबे ने कहा कि यह समिति पिछले पांच वर्षों से लगातार यह आयोजन कर रही है। साथ ही आज के दिन शहीदों को भी याद किया जाता है। उन्‍होंने कहा कहा कि शीघ्र ही समिति का विस्‍तार किया जाएगा। ऐसे आयोजन जिससे लोग प्रेरित हाें, अपनी संस्‍कृति की रक्षा की जा सके, इसपर अभियान चलाया जाएगा। उन्‍होंने कहा कि भारतीय संस्‍कृति की रक्षा करने के लिए यह समिति लगातार प्रयास करेगी।

जागृत युवा समिति के संस्‍थापक संयोजक प्‍यारे हिंद ने कहा कि मातृ-पितृ दिवस की तैयारी 25 दिसंबर तुलसी पूजन के दिन से प्रारंभ कर दी गई थी। इसके लिए शिक्षण संस्‍थानों से संपर्क कर एक जगह बच्‍चे को आने के लिए प्रेरित किया गया, ताकि सामूहिक रूप से यह कार्यक्रम लोगों के बीच एक बढि़या संदेश दिया जा सके।

जागृत युवा समिति के कार्यकर्ताओं ने कहा कि आगे यह कार्यक्रम और बढि़या तरीके से करने का प्रयास किया जाएगा। इसकी तैयारी काफी पहले से की जाएगी। अब 14 अगस्‍त को अखंड भारत दिवस मनाने की तैयारी शुरू की जाएगी। 

Edited By: Dilip Kumar shukla