Move to Jagran APP

Manvi Madhu Kashyap: देश की पहली ट्रांसजेंडर दारोगा बनीं मानवी मधु, CM नीतीश कुमार का किया धन्यवाद

बांका की मानवी मधु कश्यप ने इतिहास रच दिया है। वह देश की पहली ट्रांसजेंडर दारोगा बन गईं हैं। दारोगा भर्ती का रिजल्ट घोषित होने के बाद मानवी मधु कश्यप ने कहा कि मुझे यह बात बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि मेरा बिहार SI में सेलेक्शन हो गया है। उन्होंने कहा कि मैं इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और अपने गुरु रहमान सर का धन्यवाद करती हूं।

By Jagran News Edited By: Rajat Mourya Wed, 10 Jul 2024 09:54 AM (IST)
मानवी मधु कश्यप और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (फाइल फोटो)

जागरण टीम, पटना/भागलपुर। Manvi Madhu Kashyap बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग (बीपीएसएससी) ने मंगलवार को बिहार पुलिस में पुलिस अवर निरीक्षक प्रतियोगिता परीक्षा का अंतिम परिणाम जारी कर दिया है। शारीरिक दक्षता, शैक्षणिक योग्यता, आयु तथा आरक्षण आदि अर्हता के आधार पर तीन हजार 727 अभ्यर्थियों पर चयन के लिए विचार किया गया। इनमें 1,275 अभ्यर्थी अंतिम मेधा सूची में शामिल किए गए हैं। इस रिजल्ट में तीन ट्रांसजेंडर सफल हुए हैं।

बिहार के बांका की रहने वालीं मानवी मधु कश्यप देश की पहली ट्रांसजेंडर दारोगा बन गईं हैं। बता दें कि तीन ट्रांसजेंडरों में दो ट्रांसमेन हैं और मनु अकेली ट्रांसवुमेन हैं।

'मैं CM नीतीश कुमार का धन्यवाद करती हूं...'

रिजल्ट घोषित होने के बाद मानवी मधु कश्यप ने वीडियो जारी कर कहा कि मुझे यह बात बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि मेरा बिहार SI में सेलेक्शन हो गया है। उन्होंने कहा कि मैं इसके लिए माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, अपने गुरु रहमान सर और माता-पिता का धन्यवाद करती हूं।

मानवी बोलीं- यहां तक पहुंचना आसान नहीं था

मानवी मधु कश्यप ने अपने संघर्ष पर भी बात की। उन्होंने कहा कि यहां तक पहुंचने में उनको काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। मानवी ने कहा कि मेरे लिए यह सफर मुश्किल भरा रहा है। हालांकि, मेरे माता-पिता और गुरु ने मेरा हमेशा सपोर्ट किया। इस कारण में यहां तक पहुंच पाईं हूं।

बता दें कि मानवी मधु मूल रूप से बांका के पंजवारा की रहने वाली हैं। उनके पिता स्वर्गीय नरेंद्र प्रसाद सिंह जबकि माता माला देवी हैं। उन्होंने बताया कि घर में बड़ी होने के नाते मेरे ऊपर बहुत जिम्मेदारी थी। इसी बीच पिता का भी साथ छूट गया, लेकिन मैंने अपने सपने को मरने नहीं दिया।

उन्होंने बताया कि उनकी प्रारंभिक शिक्षा एसएस संपोषित हाई स्कूल पंजवारा से हुई है। जबकि प्लस टू सीएनडी कॉलेज से और सत्र 2018-21 में तिलकामांझी यूनिवर्सिटी से राजनीति शास्त्र में स्नातक किया है। उन्होंने बताया कि एक छोटे से गांव से निकलकर यहां तक का सफर बहुत ही कठिन रहा है। खासकर ट्रांसजेंडर होने की वजह से कई जगहों पर बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ा है।

ये भी पढ़ें- Saharsa News: आदर्श आचार संहिता उल्लंघन के मामले में पूर्व MP महबूब अली कैसर रिहा, स्पेशल जज ने सुनाया फैसला

ये भी पढ़ें- Virat Ramayan Mandir: विराट रामायण मंदिर के दूसरे चरण का काम शुरू, विश्व का सबसे ऊंचा शिवलिंग होगा स्थापित