भागलपुर, जागरण संवाददाता। बिहार के भागलपुर के बड़ी खंजरपुर स्थित मठ घाट में रविवार को 60 मवेशियों के साथ आठ चरवाहाें को ड्रेजिंग जहाज ने खींच लिया। गंगा में चल रही ड्रेजिंग मशीन (जहाज) में मवेशी फंस गए और इसके पंखों की चपेट में आकर कट गए। 40-42 भैंस के कटकर मारे जाने की सूचना है। किसी तरह जान बचकर छह चरवाहे बाहर निकल गए। लेकिन दो लोग लापता हैं। एसडीआरएफ की टीम दोनों को तलाश रही है। उनके जहाज से कट जाने की आशंका है।

दोपहर एक बजे बड़ी खंजरपुर के अधिक यादव अपने पुत्र प्रदीप के साथ, कुप्पाघाट के जितेंद्र यादव, बड़ी खंजरपुर निवासी लखन यादव, मायागंज निवासी दशरथ यादव अपने 15 वर्षीय पुत्र चंदन के साथ, कुप्पाघाट निवासी विजय यादव, धीरज यादव और मायागंज के रहने वाले कारू यादव अपनी-अपनी भैंस को लेकर मठ घाट पहुंचे।

प्रदीप यादव, कारू यादव, मोहन यादव उर्फ सिकंदर यादव, धीरज यादव, 10 वर्षीय पियूष यादव, चंदन यादव समेत आठ चरवाहा भैस के साथ गंगा में उतरे और मवेशियों को चराने के लिए शंकरपुर दियारा की ओर ले जाने लगे। शंकरपुर दियारा ले जाने के क्रम में चार ड्रेजिंग जहाज खंजरपुर घाट से गुजर रहा था। इसी बीच पानी के तेज धार मवेशिशें सहित चरवाहों को बहा ले गई। देखते-देखते 60 मवेशियों के साथ सभी आठ चरवाहों को जहाज के प्रोपेलर ने खींच लिया।

जहाज से कटकर 40-42 मवेशियों की मौत हो गई। चंदन, मोहन, प्रदीप, पीयूष, धीरज सहित छह लोगों ने किसी तरह जान बचाकर बाहर निकल गए। 55 वर्षीय सिकंदर और कारू नहीं निकल पाए। दोनों लापता हैं। जानकारी होते ही आसपास के लोग भी वहां पहुंच गए। सूचना मिलने पर बरारी, तिलकामांझी और जोगसर थानाध्यक्ष दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की जांच की। बाद में एसडीएम धनंजय कुमार भी मौके पर पहुंचकर जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि पानी के तेज बहाव होने के कारण यह घटना हुई। लगभग तीन दर्जन मवेशियों के जहाज से कटकर मौत होने और दो लोगों के लापता होने की जानकारी मिली है। बचाव और राहत कार्य चल रहा है। इसके लिए एसडीआरएफ की टीम लगी हुई है। 19 मृत भैंस को इंग्लिश फरका के पास देखा गया है।

गंगा घाट पर भीड़

घटना के बाद गंगा घाट पर काफी भीड़ लग गई। जो लोग लापता है, उसके स्‍वजन काफी परेशान हैं। काफी संख्‍या में मवेशी गायब है। स्‍वजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है। गंगा घाट पर कई प्रशासनिक अधिकारी व जनप्रतिनिधि पहुंच रहे हैं।

Edited By: Dilip Kumar shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट