कटिहार, जेएनएन। व्यवहार न्यायालय के एडीजे षष्ठम के अंगरक्षक विकास कुमार 30 वर्ष ने शुक्रवार की दोपहर एसडीओ कोर्ट के पीछे सर्विस पिस्टल से सिर में गोली मार आत्महत्या कर ली। मृतक मूल रूप से बेगूसराय जिले के रजौरा का रहने वाला था। अंगरक्षक ने वर्दी में ही घटना को अंजाम दिया। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक विकास कुमार व एएसपी हरिमोहन शुक्ला सहित काफी संख्या में पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। घटना के कारणों का स्पष्ट पता नहीं चल पाया है। मिली जानकारी के मुताबिक दोपहर करीब एक बजे पुलिस जवान विकास पुलिस लाइन से वर्दी में निकला था।

दोपहर करीब दो बजे जवान का खून से लथपथ शव बरामद किया गया। मृतक का सर्विस पिस्टल शव के समीप ही पाया गया। पिस्टल में एक गोली लोड मिली। घटना की जानकारी होते ही पुलिस महकमे में सनसनी फैली गई। मृतक जवान अविवाहित था। घटना की जानकारी उसके परिजनों को दे दी गई है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर अंत्यपरीक्षण के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया। अस्पताल में परिजनों का इंतजार किया जा रहा था।

पुलिस जवान का शव एसडीओ कोर्ट के समीप से बरामद किया गया है। प्रथम दृष्टया यह आत्महत्या का मामला प्रतीत हो रहा है। पुलिस अन्य बिंदुओं पर भी जांच कर रही है। एफएसएल टीम को भी बुलाया गया है। मृत जवान के सहकर्मियों से भी घटना की बाबत जानकारी ली रही है। घटना के पीछे के कारणों के संबंध में तत्काल स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता है। - विकास कुमार, पुलिस अधीक्षक, कटिहार।

Edited By: Dilip Shukla

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट