संवाद सूत्र, सिमुलतला (जमुई)। भारतीय रेल: पूर्व रेलवे के आसनसोल रेल मंडल अंतर्गत जसीडीह-झाझा रेलखंड एक भयंकर हादसा होते-होते बच गया। घोरपारन-नरगंजो रेलवे स्टेशन के मध्य अप ट्रैक से जा रही इलेक्ट्रिक दरभंगा नामक मालगाड़ी दो भागों में बंट गई। मालगाड़ी के विभक्त होने से अप ट्रैक पर आवागमन प्रभावित है। कई ट्रेनें यहां-वहां रुकी हुई है। यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है।

दोपहर 12:47 बजे से 02267 अप हावड़ा- ई दिल्ली दुरंतो एक्सप्रेस सिमुलतला स्टेशन पर खड़ी है। दोपहर 12:25 बजे से 02303 अप हावड़ा-नई दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस घोरपारन रेलवे स्टेशन में खड़ी हो गई। 63567 अप आसनसोल-झाझा मेमू जसीडीह स्टेशन में खड़ी हो गई है। कई अन्य ट्रेनों के भी इधर-उधर खड़ी रहने की संभावना है।

रेल सूत्रों के अनुसार अप से गुजरने वाली 08183 अप टाटा-दानापुर एक्सप्रेस ट्रेन के भी प्रभावित होने की संभावना है। जानकारी अनुसार इलेक्ट्रिक दरभंगा दोपहर 12 बजकर 11 मिनट में सिमुलतला स्टेशन से गुजरी और दोपहर 12:25 बजे किलोमीटर संख्या 356/39 के पास पहुंचकर दो भागों में विभक्त हो गई।

समाचार संकलन तक जसीडीह से अतिरिक्त इंजन भेजने की प्रक्रिया की जा रही थी। दोपहर 1:32 बजे सिमुलतला स्टेशन में अतिरिक्त इंजन सिमुलतला पहुंचा। प्रबंधक शंकर शैलेश अतिरिक्त इंजन को लेकर सिमुलतला से रवाना हुए। नक्सल प्रभावित घोरपारन स्टेशन में पूर्वा जैसी गाड़ी खड़ी होने से उसमें सवार यात्रियों में भय का माहौल देखा गया। मालूम हो की उक्त स्टेशन में यात्री सुविधा के लिए कोई व्यवस्था नहीं है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla