जागरण संवाददाता, मुंगेर। गंगा का जलस्तर कम होने की जगह बढ़ ही रहा है। रात में छह सेमी पानी बढ़ गया है। गंगा डेंजर जाने से 1.5 मीटर से ऊपर बह रही है। अब गंगा मइया की भी इच्छा है कि भागलपुर-जमालपुर के बीच ट्रेनों का परिचालन अभी बहाल नहीं हो। जिस तरह से जलस्तर बढ़ रहा है, उससे रविवार को ट्रेन परिचालन बहाल होने की संभावना नहीं दिख रही है। जमालपुर-भागलपुर के बीच ट्रेन कनेक्शन पूरी तरह कट गया है। रेलवे जलस्तर पर नजर रखने के लिए पेट्रोलिंग टीम को पुल के पास तैनात किया है। रेलवे भी जलस्तर पर कम होने का इंतजार कर रहा है। पानी कम होने के बाद पुल की जांच होगी। लाइट इंजन चलाकर परिचालन का ट्रायल किया जाएगा। जमालपुर जंक्शन से ही दानापुर और मालदा इंटरसिटी खुली। दरअसल, शनिवार की दोपहर बरियापुर-रतनपुर के बीच रेलवे पुल संख्या 195 के अप-डाउन गर्डर तक बाढ़ की पानी पहुंच गया है। इसके बाद से इस खंड पर अप और डाउन में ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया है।

वैक्लिपक रूट बांका जसीडीह होकर चल रहीं ट्रेनें

मुख्य मार्ग बाधित होने के बाद ट्रेनों का वैक्लिपक मार्ग भागलपुर-बांका-चानन-जसीडीह-किऊल के रास्ते चलाया जा रहा है। रविवार को विक्रमशिला सुपर फास्ट एक्सप्रेस अप और डाउन मार्ग में इसी रूट से गई। इसी तरह एलटीटी का परिचालन भी बांका के रास्ते किया गया। शाम में आने वाले सूरत एक्सप्रेस भी इसी रास्ते से भागलपुर पहुंचेगी।

आज भागलपुर से ही चलेगी सुपर एक्सप्रेस

हावड़ा-जमालपुर सुपर एक्सप्रेस को भागलपुर में ही रोक दिया गया है। रविवार को यह ट्रेन भागलपुर से ही हावड़ा के लिए चलेगी। भागलपुर के बाद जमालपुर स्टेशन से इस ट्रेन में आरक्षण कराने वाले यात्रियों को पूरा रिफंड मिलेगा, जितनी भी ट्रेनें जमालपुर होकर नहीं जा रही है। वैसे ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों को टिकट का पूरा पैसा रेलवे की ओर से वापस किया जाएगा।

पूछताछ और आरक्षण काउंटर पर भीड़

ट्रेनें रद और डायवर्ट होने के बाद जमालपुर सहित कई स्टेशनों के पूछताछ और आरक्षण काउंटर पर यात्रियों की भीड़ रही। कई यात्री ट्रेन का टिकट रद कराने पहुंचे तो कई ट्रेनों के चलने के बारे में जानकारी लेते दिखे। रेलवे पुल पर पानी का दवाब कम नहीं हुआ है। पानी कम होेने के बाद जांच की जाएगी। लाइट इंजन चलाकर चेक किया जाएगा। इसके बाद ही ट्रेनों का परिचालन सामान्य होगा। यात्रियों की सुरक्षा को लेकर मालदा रेल मंडल किसी तरह का रिस्क नहीं लेगा। बाढ़ प्रभावित रेल सेक्शन पर विशेष पेट्रोलिंग चल रही है। -यतेंद्र कुमार, डीआरएम, मालदा रेल मंडल।

 

Edited By: Dilip Kumar Shukla