भागलपुर [जेएनएन]। नवगछिया के खरीक थाना क्षेत्र के पूर्वी घरारी में एक हृदयविदारक घटना घटी। तलाक नहीं देने पर शौहर मो. सनोवर ने अपनी बेगम खातून उर्फ बेबी को जिंदा जला दिया। महिला आग से अस्सी फीसद जल चुकी है। इससे पहले कि शौहर समेत ससुराल वाले उसे ठिकाना लगाते, मायकेवाले आ गए। यह देख ससुराल के सभी पुरुष और महिला सदस्य घर छोड़कर भाग निकलीं।

बेबी को इलाज के लिए नवगछिया थाना क्षेत्र के महदत्तपुर निवासी उसके अब्बा शेख फारूक खरीक पीएचसी लेकर गए, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया। महिला की स्थिति बेहद गंभीर बनी थी। शेख फारूक विद्युत विभाग पूर्णिया में नाइट गार्ड की नौकरी करते हैं। सूचना पर आई खरीक पुलिस ने आरोपित मो. सनोवर को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ चल रही है। शेख फारूक के बयान पर खरीक थाने में बेबी के पति, भैसुर मो. मनोवर, उसकी पत्‍नी माजो खातून, सास बानो खातून एवं ननद बीबी गुड़िया खातून पर एफआइआर दर्ज की गई है। थानाध्यक्ष हरिशंकर प्रसाद कश्यप ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

13 वर्ष पूर्व हुआ था बेबी का निकाह, दो बच्चे भी हैं

शेख फारूक ने पुलिस को बताया कि 13 वर्ष पूर्व मो. अब्बास के पुत्र मो. सनोवर से अपनी बेटी बेबी का निकाह किया था, जिससे दो पुत्र भी है। इस बीच मो. सनोवर का अपनी भाभी से अवैध संबंध हो गया, जिसका विरोध बेबी हमेशा किया करती थी। इसको लेकर मो. सनोवर बेबी पर तलाक देने का दबाव बना रहा था। उसे प्रताड़ित किया करता था। सारी कमाई अपनी भाभी को ही देता है। इस वजह से बेबी को लेकर महदत्तपुर गांव चला आया था। तीन साल से वह अपने बच्चों के साथ मायके में रह रही थी। दस दिनों पूर्व दोनों पक्षों के बीच समझौता के बाद बेबी और बच्चों को उसके ससुराल वाले पूर्वी घरारी ले गए थे। वहां बुधवार को फिर से बेबी पर तलाक देने का दबाव बनाया जाने लगा। इन्कार करने पर बेबी को आगे के हवाले कर दिया। पूर्वी घरारी के ग्रामीणों ने घटना की सूचना दी। वहां पहुंचने पर दर्द से कराहती बेटी ने बताया कि ससुराल वालों ने मुझ पर छोटा गैस सिलेंडर डालकर जला दिया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021